गलत अंक देने वाले को खोज रहा बोर्ड

बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम 2018: इंटर के प्रैक्टिकल परीक्षा के दौरान गलत अंक देने वाले एक्सटर्नल और इंटर्नल को अब बिहार बोर्ड खोज रहा है। ऐसे शिक्षक जिन्होंने अवार्डशीट और मार्क्स फाइल में अलग-अलग अंक दिये है, उन शिक्षकों को चिह्नित किया जा रहा है। .

प्रदेश भर में कई ऐसे जिले के प्रैक्टिकल सेंटर पकड़ में आ रहे है जहां पर प्रैक्टिकल परीक्षा के दौरान लापरवाही बरती गयी है। इन शिक्षकों ने अवार्डशीट और मार्क्स फाइल पर अलग-अलग अंक दिये हैं। चूंकि अवार्डशीट पर आए अंक की स्कैनिंग कर उसे ही अंक पत्र पर चढ़ाया जाता है। इसलिए छात्रों को प्रैक्टिकल में कम अंक आए हैं। पटना कॉलेजिएट हाई स्कूल, पीएन एंग्लो हाई स्कूल, द्वारिका कॉलेज आदि स्कूलों में कॉमर्स, साइंस के अधिकतर छात्रों को प्रैक्टिकल में दो, तीन और चार अंक तक ही आए हैं।

वहीं इन छात्रों को कुल अंक 350 के ऊपर आए हैं। बोर्ड की मानें तो पटना, किशनगंज के अलावा कई जिले के प्रैक्टिकल केंद्रों पर भी यह मामला पकड़ में आया है। रिजल्ट खराब होने पर स्कूल के प्राचार्य ने जब शिकायत की तो मामला पकड़ में आया।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सचिव अनूप कुमार सिन्हा ने कहा कि बोर्ड की नजर में कई ऐसे सेंटर पकड़ में आए हैं जहां पर अंक देने में एक्सटर्नल और इंटर्नल ने गलती की है।

Input :Live Hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *