बिहार: BJP-JDU राज में बढ़ा अपराध, बलात्कार की घटनाओं में 23% की हुई बढ़ोतरी, तेजस्वी ने नीतीश पर बोला हमला

इकनॉमिक टाइम्स के हवाले से नवभारत टाइम्स में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिसिया आंकड़ों बताते है कि पिछले साल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और जनता दल (यूनाइटेड) जेडीयू की सरकार बनने के बाद नीतीश नीतीश में राज्य में होने वाली कुल आपराधिक घटनाओं में 20 पर्सेंट और बलात्कार की घटनाओं में 23 पर्सेंट की बढ़ोतरी हुई है। ये आंकड़े इस साल के जून महीने तक के हैं। अगस्त 2017 से जून 2018 तक के 11 महीनों में बिहार पुलिस ने 2.31 लाख आपराधिक घटनाएं दर्ज कीं। इनमें से 1,278 मामले बलात्कार और 2,722 हत्या से जुड़े हैं।

इन आंकड़ों की तुलना जेडीयू-आरजेडी गठबंधन सरकार के आखिरी 11 महीनों के आंकड़ों से करें तो उस दौरान 1.91 लाख आपराधिक घटनाएं दर्ज की गई थीं। अगस्त 2016 से जून 2017 के बीच राज्य में 2,468 हत्या और 1,044 बलात्कार की घटनाएं दर्ज की गई थीं। इस तरह मौजूदा सरकार के कार्यकाल में बलात्कार की घटनाओं में 23 पर्सेंट, हत्या में 11 पर्सेंट और कुल अपराध में 21 पर्सेंट की बढ़ोतरी हुई है।

यह आकड़े सामने आने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जोरदार हमला बोला है। तेजस्वी यादव ने कहा कि ‘चाचा, जनता को अब प्रवचन नहीं चाहिए।’

तेजस्वी यादव ने गुरुवार(23 अगस्त) को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘बिहार पुलिस के अपने आंकड़े नैतिक बाबू उर्फ़ अंतरात्मा कुमार को कह रहे है कि आपके तथाकथित दु:शासनी ‘जेडीयू-बीजेपी राज में’ कई गुना अपराध बढ़ा है। कुल आपराधिक घटनाओं में 20% और बलात्कार की घटनाओं में 23% बढ़ोतरी हुई है। चाचा, जनता को अब प्रवचन नहीं चाहिए।’

वहीं, तेजस्वी ने शुक्रवार(24 अगस्त) को एक ट्वीट करते हुए लिखा, ‘बिहार में बच्चियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म हो रहे हैं, हत्या हो रही है। महिलाओं को निर्वस्त्र करके घुमाया जा रहा है लेकिन नीतीश चाचा की अंतरात्मा को कोई फिक्र नहीं है उन्हें तो कुर्सी की चिंता है। कुर्सी कैसे बचेगी, ज्यादा से ज्यादा चुनाव लड़ने के लिए सीट कैसे मिलेगी?’ बता दें कि अपने इस ट्वीट के साथ तेजस्वी ने कुछ न्यूज़ पेपर के स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है, जिसमें क्राइम की ख़बर छपी हुई है।

Input: Navbharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *