कमांडो ट्रेंड पुलिसकर्मी करेंगे जिले में अपराध डिटेक्शन

अपराध की रोकथाम व डिटेक्शन के लिए सिपाहियों को कमांडो की ट्रेंनिंग दी जा रही है। जिले के दो सब-इंस्पेक्टर व 20 जवान प्रशिक्षण ले रहे है। जो अगले सप्ताह जिले की पुलिसिंग में शामिल होंगे। एसएसपी हरप्रीत कौर ने कमांडो टेंड पुलिसकर्मियों की सीआईटी (क्राइसिस इंटरवेंशन टीम ) गठन करने की कवायद शुरू कर दी है। जो अपराध डिटेक्शन और गिरोह व सरगनाओं पकड़ने में मददगार साबित होंगी।

इधर, एसएसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि जिले में अपराध के डिटेक्शन के लिए एक सीआईटी का गठन किया जा रहा है। फिलहाल सीआईटी में शामिल होने वाले सब-इंस्पेक्टर और जवान कमांडो की ट्रेनिंग ले रहे हैं। इस टीम में दो सब इंस्पेक्टर समेत 22 लोग होंगे। जो घटना के तुरंत बाद अपराध करने वाले का डिटेक्शन करेंगे। इसके अलावा यह टीम शहरी व ग्रामीण क्षेत्र से सूचनाएं भी एकत्र करेंगे। स्थानीय थानों के संपर्क बनाएंगे। इसस अपराध होने के तुरंत बाद वे लोग घटनास्थल पर पहुंचकर सुराग साक्ष्य जुटाएंगे। कमांडों को अपराध नियंत्रण, दंगा नियंत्रण, बड़ी मुठभेड़ के लिए तैयार किया जा रहा ताकि जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल हो सके।

दीवार पर चढ़ने तक की मिल रहा प्रशिक्षण :

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कमांडों की ट्रेनिंग के दौरान जवानों को शारीरिक रूप से दक्ष, 10 मीटर तक की ऊंची दीवार पर आसानी से चढ़ना व उसे फांदकर आगे निकलना, सभी प्रकार के अत्याधुनिक हथियार चलाने में माहिर, अचूक निशाना लगाने आदि की विशेष ट्रेनिंग दी जा रही है।

अलग किस्म की होगी वर्दी :

पुलिस सूत्रों के अनुसार, सीआईटी की वर्दी भी आम पुलिसकर्मियों से अलग होगी। हालांकि, वर्दी का रंग व कपड़े का चयन नहीं हो सका है। दूसरी ओर, एसएसपी की ओर से गठित क्यूआरटी शहरी क्षेत्र में काम कर रही है। जो प्रतिदिन शराब के मामलों का खुलासा कर रही है। साथ ही माफियाओं को भी दबोच रही है।

Input:Live Hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *