मुजफ्फरपुर समेत सूबे के 25 थानों में योग्य पुलिस अधिकारियों की कमी

Bihar Police, CM Nitish, Dial 100

मुजफ्फरपुर, दरभंगा सहित सूबे के 25 थानों में योग्य पुलिस अधिकारियों की कमी है। डीजीपी केएस द्विवेदी ने इन थानों की सूची जारी की है। सूची में मुजफ्फरपुर व दरभंगा के सबसे अधिक पांच-पांच थाने शामिल हैं। इसके अलावा बांका, अररिया, पटना के तीन-तीन और भागलपुर, गया, सिवान, बेतिया, समस्तीपुर व सहरसा के एक-एक थाने भी शामिल हैं। इनमें अपराध अनुसंधान के लिए योग्य अधिकारियों की कमी है। मुजफ्फरपुर के अहियापुर, सदर, कुढ़नी, सरैया व साहेबगंज, दरभंगा के बहादुरपुर, बिरौल, सदर, बहेड़ी व मनीगाछी और पटना के कंकड़बाग, धनरुआ व पालीगंज थाने में अधिकारियों की कमी से अनुसंधान में देरी हो रही है। बेतिया के योगापट्टी, समस्तीपुर के मुफ्फसिल, बांका के रजौन, भोरैया, बांका में योग्य जांचकर्ता नहीं हैं।

300 कांडों पर होंगे तीन योग्य अनुसंधानकर्ता

कमेटी ऑन रिफॉर्म ऑफ क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम के अनुसार, बेहतर अनुसंधान के लिए एक पुलिस अधिकारी को एक साल में सिर्फ 10 कांडों का भार देना चाहिए। इस मापदंड के हिसाब से यदि थाने में एक वर्ष में 300 केस आते हैं तो इनमें से एक तिहाई अर्थात सौ मामले स्पेशल केस होते हैं। सौ मामलों में अधिकतम 30 से 35 मामले गंभीर प्रवृत्ति के होंगे अर्थात 10 मामले प्रतिवर्ष प्रति अनुसंधानकर्ता के अनुपात से 300 वार्षिक प्रतिवेदन वाले थाने के गंभीर प्रकृति के कांडों का अनुसंधान करने के लिए विशेष अपराध जांच में तीन अनुसंधानकर्ता होंगे।

डीजीपी ने कमी दूर करने का दिया निर्देश

रिपोर्ट को डीजीपी ने बीते सप्ताह सूबे के सभी एसएसपी/एसपी (रेल सहित) को भेजा है। जिस जिले में योग्य पुलिस अधिकारियों की कमी है, वहां के एसएसपी/एसपी योग्य अधिकारियों का चयन करें। रेंज के डीआईजी ने योग्य पुलिस अधिकारियों की सूची तैयार कर पुलिस मुख्यालय भेजी थी।

मुजफ्फरपुर के इन थानों में योग्य अधिकारियों की कमी

थानों के नाम इतने होने चाहिए इतने हैं

अहियापुर 11 07

सदर 07 03

सरैया 05 03

कुढ़नी 05 03

साहेबगंज 04 03

Input : Live Hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *