अब मुज़फ़्फ़रपुर की बेटी क्रिकेट में लहरायेगी अपना परचम

eshika ranjan, muzafafrpur, bihar, cricket

मुज़फ़्फ़रपुर एक ऎसा शहर है जहाँ से कई महान हस्ती निकले है और विभिन्न क्षेत्रों में अपना बुद्धि कला का प्रदर्शन कर रहे है। कई सफल उदाहरण में से एक है हमारे देश के पहले राष्ट्रपति श्री राजेन्द्र प्रसाद।

अच्छा लगता है जब कोई हम अपनो के बीच मे रहने वाला पूरे देश मे अपना नाम बना लेता है। इन्ही नामो की कड़ी में एक नाम और जुड़ गया है इशिका रंजन का, जो कि मुज़फ़्फ़रपुर की ही है,
मुज़फ़्फ़रपुर के शहरवासियो को ये जान के बेहद ही गर्व महसूस होगा कि उन्ही के शहर में पली बड़ी शहर की बेटी का चयन बिहार अंडर 19 टी-20 टूर्नामेंट में बी सी सी आई द्वारा कर लिया गया है।

उनकी बहन से ताज़ा बातचीत में हमे इशिका से जुरे उनकी निजी जिंदगी और क्रिकेट के दुनिया से जुड़ने के विषय मे कई जानकारियां मिली।

इशिका का क्रिकेट के दुनिया मे आने का विचार उनके दोस्तों के प्रोत्साहन से हुआ, जब भी वह क्रिकेट खेल करती थी उनके दोस्त और उनके सीनियर्स उससे काफी प्रोत्साहित किया करते थे, कुछ दिन बाद इशिका ने क्रिकेट में रुचि होने की बात अपने परिवार वालो को बताई तो उन्होंने उसका एडमिशन क्रिकेट ट्रेनिंग स्कूल में करवा दिया।

अपनी करि मेहनत और लगन से उसने एक साल मुज़फ़्फ़रपुर के सिकंदरपुर में ट्रेनिंग लिया उसके बाद वो पटना के CAB (CRICKET ACADEMY OF BIHAR) अकादेमी में ट्रेनिंग लेने लगी।
इस बीच उसने कई सारे टूर्नामेंट बिहार हरयाणा राजस्थान के खेले।

पहली बार उनका चयन स्टेट लेवल में नही हो पाया लेकिन हिम्मत न हार कर वो प्रयास करती रही और आज परिणाम हम सब के सामने है कि ठाकुर परिवार की बेटी का सिलेक्शन बिहार टी 20 टूर्नामेंट में हो गया है।

FOR MORE DETAILS CLICK ON IMAGE

इशिका अपने टीम के साथ 8 अक्टूबर को पटना से जबलपुर के लिए रवाना होगी जहा उनका सामना पौडोचेरी से 14 अक्टूबर को होगा।

ठाकुर परिवार की बेटी इशिका ने मुज़फ़्फ़रपुर से ही अभी तक कि पढ़ाई की है, अभी अगले वर्ष वो दशवी की परीक्षा देंगी। अपने बेटी के चयनित होने पर उनके माता पिता में एक अलग सा उत्साह जाग उठा है और पूरे परिवार से उन्हें आशीर्वाद मिल रहे है। गौरवन्दित हुए उनके पिता श्री रजनी रंजन राजेश पेशे से एक टेक्निशन है और माँ एक निजी स्कूल में शिक्षक है, इशिका की दो बेहेन है एक मेघना जोकि दिल्ली से मास कॉम्युनिकेशन कर रही है वही दूसरी 7 वी कक्षा में पढ़ाई कर रही है।

ये तो तय है कि इशिका के परिवार का और पूरे सहरवासियो का सर गर्व से ऊंचा हो जाएगा जब ठाकुर परिवार की बेटी पिच पर चौके छक्कों की बरसात करेगी। लेकिन इनसब के बीच हम बिहार की सरकार से यही आग्रह करेंगे कि खेल को जितना हो सके उतना परोहत्साहन दे ताकि इशिका जैसी हीरे और निकल के बाहर आये।

हम मुज़फ़्फ़रपुर नाउ की तरफ़ से इशिका को ढेर सारी सुभकामनाये देते है और उनकी उज्ज्वल भविष्य की कामना करते है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *