जीनियस क्लासेज द्वारा आयोजित, जीनियस टैलेंट सर्च एग्जाम (GTSE-2019) में उत्तर बिहार के 150 से ज्यादा स्कूलों के के 30,000 हज़ार बच्चे लेंगे भाग

जीनियस टैलेंट सर्च एग्जाम (GTSE-2019) के प्रथम चरण की परीक्षा आगामी “4 नवम्बर” को एक साथ पूरे उत्तर बिहार में आयोजित की जाएगी. जिसमें 19 जिलों के लगभग 150 से ज्यादा स्कूलों के 30,000 हज़ार बच्चे शामिल रहेंगे. परीक्षा में क्लास 7 वीं से क्लास 10 वीं के विद्यार्थी भाग लेंगें.

Genious Talent Search Exam, Genious Classes, Bihar, Muzaffarpur

संस्थान के निदेशक, श्री भारतेंदु कुमार ने बताया की GTSE एग्जाम उन सभी प्रतिभावान विद्यार्थियों के लिए एक सुनहरा अवसर है, जो EBC (Economically Backward Class) यानि आर्थिक रूप से पिछड़े हैं, चाहे वो किसी भी जाती और धर्म से हों. इसके लिए ETPP यानी Economically Weak Talent Promotional Program के तहत चुने हुए सभी प्रतिभावान विद्यार्थियों को आई आई टी तथा मेडिकल प्रवेश परीक्षा की मुफ्त तैयारी करवाई जाएगी. YTPP यानी Young Talent Promotional Program के तहत प्रत्येक क्लास के टॉप 5 विद्यार्थियों को नगद पुरस्कार, मैडल तथा सर्टिफिकेट मिलेंगे.

CLICK ON IMAGE FOR MORE DETAILS

जीनियस क्लासेज, थोड़े ही समय में उत्तर बिहार का सबसे बड़ा कोचिंग संस्थान बन के उभरा है, जिसका श्रेय संस्था के संस्थापक, श्री नन्द कुमार प्रसाद साह (नंदू बाबु) की शिक्षा और समाज के प्रति समर्पण को जाता है. भारत के अलग अलग हिस्सों से ख्याति प्राप्त फैकल्टी की टीम बनाना तथा उन्हें मुजफ्फरपुर में पठन-पाठन के लिए मनाना किसी चुनौती से कम नहीं था. लेकिन उन्होंने ये मुमकिन कर दिखाया है.
बेटी पढाओ, बेटी बचाओ प्रोग्राम के समर्थन में उन्होंने “जीनियस क्लासेज” में आई आई टी तथा मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी करने के लिये एडमिशन लेने वाली छात्राओं के लिए GTSE स्कालरशिप के अलावा भी अपनी तरफ से 10 प्रतिशत अतिरिक्त छूट देने की घोषणा की है.

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *