विवेक के दो लॉकरों में 2.15 करोड़ की संपत्ति

SSP, Vivek Kumar, Muzaffarpur, SUV, Raid

निलंबित एसएसपी विवेक कुमार की काली कमाई का राज उनकी ससुराल में मिले छह लॉकरों की जांच से खुलने लगा है। स्पेशल विजिलेंस यूनिट (एसवीयू) ने यूपी के मुजफ्फरनगर स्थित उनकी ससुराल में विभिन्न बैंकों के छह लॉकरों का पता कर लिया है। एसवीयू के आइजी र} संजय ने बताया कि एक लॉकर में पौने दो लाख के गहने व 18 लाख कैश मिले। वहीं दूसरे में 30 लाख के गहने व एक करोड़ 65 लाख रुपये के एफडी की रसीद मिली है। अभी चार और लॉकरों की छानबीन की जा रही है। इसमें भी करोड़ों की संपत्ति मिलने का अनुमान है। इधर, तीसरे दिन भी एसवीयू की टीम एसएसपी आवास समेत अन्य ठिकानों पर जांच कर ही रही है। संभावना जताई जा रही कि बुधवार को भी जांच पूरी नहीं हो पाएगी। एसएसपी आवास पर जमे अधिकारियों की मानें तो यहां से भी कई तरह के और महत्वपूर्ण कागजात हाथ लगे हैं। इसकी जांच की जा रही है। इधर, एसएसपी आवास से मिले कंट्री मेड कारबाइन जब्ती मामले में विजिलेंस की टीम की तरफ से प्राथमिकी दर्ज करने की कवायद शुरू कर दी गई है। बताया कि प्राथमिकी का खाका तैयार कर लिया गया है। देर शाम तक स्थानीय थाने में कांड अंकित करा दिया जाएगा।

शराब से जुड़े मामलों की खंगाली जा रही फाइल निलंबित एसएसपी विवेक कुमार के शराब माफिया कनेक्शन की पड़ताल शुरू कर दी गई है। एसएसपी आवास पर बुधवार को शराब से जुड़ी आधा दर्जन थानों से फाइलें मंगाई गई हंै। इसमें बरूराज, औराई, कटरा, काजी मोहम्मदपुर की फाइलें हैं। एसवीयू की छानबीन बुधवार को तीसरे दिन भी जारी है। दो दिनों तक आर्थिक मामले को मुख्य रूप से खंगाला गया था। अब माना जा रहा कि शराब माफिया से साठगांठ के विवेक कुमार पर लग रहे आरोपों की पड़ताल होगी। टीम 60 घंटे से अधिक समय से आवास में उनसे पूछताछ कर रही है।

निलंबित एसएसपी की ससुराल में छह बैंक लॉकरों की चल रही छानबीन, मुजफ्फरपुर आवास में भी हो रही जांच

काली कमाई मामले में जल्द गिरफ्तारी की परंपरा नहीं

मुजफ्फरपुर के पूर्व एसएसपी विवेक कुमार के विरुद्ध स्पेशल विजिलेंस यूनिट की कार्रवाई पर डीजीपी केएस द्विवेदी ने कहा कि यह आय से अधिक संपत्ति का मामला है। एसयूवी इसकी जांच कर रही है। एक-दो दिनों में पूरी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। एसएसपी की गिरफ्तारी के संबंध मे पूछे जाने पर डीजीपी ने कहा कि इस तरह के मामले में जल्द गिरफ्तारी की परंपरा नहीं रही है। जिम्मेवार लोग कभी भागते नहीं हैं।

SSP, Vivek Kumar, Muzaffarpur, SUV, Raid

पांच थानेदार, डीएसपी और रीडर हुए गायब

एसवीयू की छापेमारी शुरू होते ही एसएसपी आवास के एक रीडर समेत पांच थानाध्यक्ष व एक डीएसपी ड्यूटी से गायब हैं। इनमें डीएसपी व दो थानेदारों ने बुधवार को अपनी छुट्टी का आवेदन प्रभारी एसएसपी को दिया है, पर रीडर का कोई सुराग नहीं है। उन्होंने मोबाइल भी स्विच ऑफ कर रखा है। वहीं तीन अन्य थानेदारों ने न तो अवकाश का आवेदन दिया है और न ही उनके बारे में आधिकारिक सूचना ही है।

दो वकील और पांच व्यवसायी भी भूमिगत : शहर के दो वकील और पांच व्यवसायी भी भूमिगत हैं। इनमें एक होटल व्यवसायी भी है। काली कमाई में इनकी भी संलिप्तता है। ऐसे में न केवल एसवीयू जांच प्रभावित हो रही है, बल्कि एसएसपी आवास से बरामद देसी कारबाइन व विवेक कुमार व अन्य के साथ शराब माफिया की सांठगांठ के आरोपों की जांच पर भी असर पड़ रहा है।

Input : Dainik Jagran

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *