वाराणसी में आज बच्‍चों के बीच अपना 68वां जन्‍मदिन मनाएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (17 सितंबर) को अपना 68वां जन्‍मदिन मनाने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे. वह अपना जन्‍मदिन वहां बच्‍चों और बनारस के लोगों के बीच मनाएंगे. इस दौरान वह काशीवासियों को रिटर्न गिफ्ट के तौर पर नई परियोजनाओं की सौगात देने के साथ ही शहर में चल रहे कई प्रोजेक्ट का शुभारंभ करेंगे. पहली बार अपना जन्मदिन वाराणसी मनाने आ रहे पीएम मोदी का ये दौरा बेहद खास होने जा रहा है.

शाम पांच बजे पहुंचेंगे पीएम मोदी
पीएम मोदी सोमवार शाम पांच बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पर उतरेंगे. इसके बाद वह नारूर गांव जाएंगे, जहां वह गैर लाभकारी संगठन ‘रूम टू रीड’ से सहायता प्राप्त प्राथमिक स्कूल के 200 बच्चों से बातचीत करेंगे. इसके बाद 18 सितंबर को पीएम मोदी सुबह साढ़े नौ बजे बनारस हिंदू विश्‍वविद्यालय (बीएचयू) के एम्फी थिएटर मैदान में जनसभा करेंगे. उधर, जन्मदिन की पूर्व संध्या पर मुस्लिम महिलाओं ने केक काटकर सोहर गाकर प्रधानमंत्री की लंबी उम्र की कामना की.

547 करोड़ की परियोजनाएं
बीएचयू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वैदिक विज्ञान केंद्र का शिलान्यास करेंगे. बीएचयू में अटल इंक्‍यूबेटर सेंटरर का लोकार्पण भी करेंगे. प्रजापति समाज के लोगों को मिट्टी के बर्तन बनाने के लिए इलेक्ट्रिक संचालित मशीन का वितरण करेंगे. 362 करोड़ की IPDS योजना के तहत लोकार्पण किया जाएगा. दीन दयाल ग्राम ज्योति योजना के तहत 3722 मजरों का लोकार्पण करने के अलावा नागेपुर में पेयजल योजना का लोकार्पण करेंगे. बीएचयू में रीजनल नेत्र चिकित्सा केंद्र का भी शिलान्यास रखेंगे.

68 स्‍थानों पर होगा दीपोत्‍सव
पीएम मोदी के जन्‍मदिन पर बीजेपी 68 स्थानों पर दीपोत्सव होगा. 68 मंदिरों में दर्शन-पूजन का कार्यक्रम है. 72 स्थानों पर मेडिकल कैंप लगाए जाएंगे. 90 स्थानों पर स्वच्छता अभियान भी चलाया जाएगा. 68 स्थानों पर केक काटने की भी योजना है. सभी चौराहों को विशेष रूप से सजाया जाएगा. हरसेवानंद विद्यालय में 5000 बच्चों के साथ पीएम के बचपन की स्मृतियों पर आधारित फिल्म ‘चलो जीते हैं’ देखने की विशेष व्यवस्था की गई है.

शिल्पकारों मोदी को देंगे विशेष तोहफा
पीएम को जन्मदिन का तोहफा देने के लिए वाराणसी के बुनकरों और शिल्पियों ने एक पोर्ट्रेट तैयार किया है. पंजा वीविंग तकनीक से बना ये पोर्ट्रेट 15 दिनों में तैयार हुआ है. प्यारेलाल मौर्या जो कि एक शिल्पी हैं और स्टेट अवॉर्डी भी हैं. इन्होंने ये पोर्ट्रेट तैयार किया है. पोर्ट्रेट की खूबी बताते हुए विशेषज्ञ बताते हैं कि इस पोर्ट्रेट की लाइफ करीब 50 साल है और आगे-पीछे दोनों तरफ से ये एक ही तरह की दिखती है. मिर्ज़ापुर हैंड मेड दरी जिसको जीआई स्टेटस मिल चुका है उसका ये वाल हैंगिंग पोर्ट्रेट है.

वैदिक विज्ञान केंद्र की करेंगे स्थापना
पीएम मोदी दुनिया के प्राचीनतम शहर और अपने संसदीय क्षेत्र में वैदिक विज्ञान केंद्र का शिलान्यास करने जा रहे हैं. ये केंद्र वैदिक साहित्य और ज्ञान-विज्ञान को आज के परिपेक्ष्य में सैद्धांतिक और प्रयोगिक दोनों स्तर पर अंतर्विषयक विषयों पर शोध कार्य करेगा. इस केंद्र में वैदिक न्यूयोरोलोजिकल लैब/प्रयोगशाला भी होगा. इस प्रयोगशाला में वैदिक मंत्रों और ऋचाओं का मन-मस्तिष्क और तंत्रिकाओं पर क्या प्रभाव पड़ता है, इस पर शोध होगा.

वैदिक न्यूयोरोलोजिकल लैब/प्रयोगशाला के अलावा इस सेन्टर में वैदिक यज्ञ शाला,वैदिक साहित्य प्रयोगशाला और वैदिक पर्यावरण प्रयोगशाला भी होगा. अभी सिर्फ शोध पर कार्य होगा. आगे चलकर अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट की भी पढ़ाई होगी और इस सेन्टर को इंस्टीट्यूट के रूप में प्रमोट किया जाएगा. अभी इसके लिए 14 करोड़ दस लाख की धनराशि दी गई है.

सुरक्षा व्‍यवस्‍था रहेगी चाकचौबंद
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी पहुंचने पर 20 से अधिक एसपी सुरक्षा व्यवस्था संभालेंगे. 70 डिप्टी एसपी, 560 इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, 22 एसओ, 4000 कांस्टेबल, 70 महिला सब इंस्पेक्टर, 600 होमगार्ड, 8 कंपनी पीएसी, 16 कंपनी पैरा मिलिट्री फोर्स, एटीएस, एसपीजी, एनएसजी, एलआईयू समेत कई खुफिया एजेंसियां भी रहेंगी.

Input:Zee News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *