तत्कालीन SSP विवेक कुमार की कम नहीं हो रही मुश्किलें, निलंबन अवधि 4 माह और बढ़ी

मुजफ्फरपुर के तत्कालीन एसएसपी विवेक कुमार की परेशानी कम नहीं हो रही है. उनकी निलंबन अवधि 6 माह के लिए और बढ़ा दी गयी है. बता दें कि भ्रष्टाचार के मामले में मुजफ्फरपुर के तत्कालीन एसएसपी विवेक कुमार को सस्पेंड कर दिया गया था. उन्हें इसी साल 17 अप्रैल को सस्पेंड किया गया था. शराब माफिया से सांठगांठ और भ्रष्टाचार के मामले में संलिप्त पाये जाने पर उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गयी थी. विवेक कुमार वह 2007 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं.
गौरतलब है कि अखिल भारतीय सेवा नियमावली के अनुसार निलंबन की अवधि 60 दिनों तक वैध रहती है. अब सरकार ने उनके निलंबन की अवधि को अधिकतम 120 दिन यानी 13 अक्तूबर के लिए बढ़ा दी है. इसे लेकर मामले में चार जून को निलंबन समीक्षा समिति की बैठक भी हुई थी. विवेक कुमार के खिलाफ विशेष निगरानी इकाई (एसवीयू) ने भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धारा 13 (1) (ई) के तहत केस दर्ज किया था. जांच में 96 एफडी डॉक्यूमेंट्स, 18 बैंक खाते, आठ बैंक लाॅकर मिले थे.
इतना ही नहीं, विवेक कुमार के आवास से करोड़ों की संपत्ति के साथ ही विदेशी करेंसी तक मिली थी. राज्य सरकार ने उनके निलंबन की संपुष्टि कराने और जांच जारी होने के कारण उन्हें निलंबित रखने के लिए प्रतिवेदन केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजा था. केंद्र सरकार ने स्पष्ट कर दिया कि जिस उपनियम के तहत उन्हें निलंबित किया गया है, उसके तहत आरोप से संबंधित कार्रवाई की समाप्ति तक निलंबित रखा जा सकता है.
विभाग के अनुसार IPS विवेक कुमार को निलंबन अवधि के दौरान केवल जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा. बता दें कि बिहार की स्पेशल विजिलेंस यूनिट (SVU) ने 16 अप्रैल को बड़ी कार्रवाई करते हुए विवेक कुमार के ठिकानों पर रेड की थी. रेड की कार्रवाई तीन दिनों तक चली थी. स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने इस बड़ी रेड के लिए कई टीमों को लगाया गया था. मुजफ्फरपुर से लेकर बिहार के बाहर के कई ठिकानों पर रेड की कार्रवाई की गयी थी. स्पेशल विजिलेंस यूनिट को एसएसपी विवेक कुमार के बारे में कई शिकायतें मिली थीं.

Input:Live Cities

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *