पटना पुलिस विद्रोह : बर्खास्त सिपाहियों ने खटखटाया महिला आयोग का दरवाजा

बिहार में सिपाही विद्रोह मामले में जहां एक ओर सरकार ने 167 से ज्यादा पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करने के आदेश आ चुके हैं तो वही अब इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है. पुलिस कर्मियों की बर्खास्तगी के बाद अब इसके विरोध में सिपाहियों ने आयोग का दरवाजा खटखटाया है. सविता पाठक की मौत के बाद पीछले हफ्ते पटना में पुलिस बनाम पुलिस की जंग मीडिया में छाई रही थी. इस मामले में सरकार ने 167 से ज्यादा कर्मियों को बर्खास्त कार दिया है.

167 पुलिस कर्मियों को किया गया बर्खास्त

पीछले सप्ताह शुक्रवार को पटना के उद्यन अस्पताल में कांस्टेबल सविता पाठक की मौत डेंगू से हो गई थी. इसके बाद से ही पटना में सिपाही विद्रोह भड़क गया. पुलिस बनाम पुलिस पटना की खबरों में छाया रहा.जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 167 पुलिस कर्मियों को बर्खास्त कर दिया है. इनमें ज्यादातर महिलाएं हैं. अब इस मामले को लेकर बर्खास्त पुलिस कर्मियों ने आयोंग का दरवाजा खटख्टाया हैं.

मामले में बर्खास्त सिपाहीयों ने अब राज्य महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया है. इन सिपाहियों का कहना है कि उनकी बर्खास्तगी गलत है. वही अपनी बर्खास्तगी से आक्रोशित महिलाओं को महिला आयोग की ओर से भी भरोषा मिला है. आयोग अध्यक्ष ने सभी सिपाहियों को भरोसा दिलाया है कि इस मामले में आयोग उनकी अवाज उठाएगा. वही आयोग ने इस मामले में डीजीपी से मुलाकात करने और इसपर फिर से विचार करने का आश्वासन भी सिपाहियों को दिया.

ट्रैफिक SP ने कहा – नहीं थी सविता के बीमारी की जानकारी

उधर सविता पाठक की मौत को लेकर ट्रैफिक एसपी ने कहा है कि उनकी बीमारी के बारे में उन्हे कोई जानकारी नही थी. उन्होंने कहा कि किसी अन्य अधिकारी और मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई थी.वहीं उन्होंने कहा कि इससे पहले जब भी उन्होंने छूट्टी मांगी है उन्हे छूट्टी मिली है.

बता दें कि शुक्रवार की सुबह उस समय अचानक हंगामा मच गया, जब उदयन अस्पताल में ट्रेनी महिला पुलिसकर्मी की मौत हो गयी. कहा जा रहा है कि उसे डेंगू हो गया था. उनके सहकर्मियों का आरोप है कि महिला पुलिसकर्मी अपने इलाज के लिए छुट्टी मांग रही थी. लेकिन उन्हें छुट्टी नहीं दी जा रही थी. आज उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गयी और इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी. महिला पुलिसकर्मी की मौत की खबर सुनकर उनके साथियों ने आपा खो दिया तथा पुलिस लाइन में मौजूद तमाम ट्रेनी पुलिसकर्मी जमकर तोड़फोड़ कर की. वे सब पुलिस लाइन के बाहर भी तोड़फोड़ कर रहे थे . फायरिंग की भी बात सामने आई थी.

Input : Live Cities

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *