बिहार विधानसभा की दो सीटों, तारापुर और कुशेश्वरस्थान में उम्मीदवार को लेकर महागठबंधन में घमासान मचा हुआ है. कांग्रेस ने साफ तौर पर कहा है कि राजद ने गठबंधन तोड़ने की पहल कर दी है. इसके मद्देनजर कांग्रेस अपनी आगामी रणनीति को लेकर मंथन कर रही है और साफ कर चुकी है कि वह भी राजद के प्रत्याशी उतारने के बावजूद अपने कैंडिडेट भी चुनाव मैदान में उतारेगी. इधर राजद नेता व बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव कांग्रेस की चेतावनी को बहुत गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. उन्होंने कहा है कि उपचुनाव में ऐसी बातें होती रहती हैं, महागठबंधन में दरार नहीं है.

उपचुनाव में RJD के स्टैंड पर कांग्रेस की तरफ से जताई गई नाराजगी पर तेजस्वी यादव ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल का फैसला है कि हम दोनों सीटों पर चुनाव लड़ें. हमने इस बारे में बिहार के कांग्रेस प्रभारी बता दिया था. हालांकि जब उनसे पूछा गया कि कांग्रेस की प्रत्याशी उतार रही है तो तेजस्वी यादव ने कहा कि क्या दिक्कत है? ऐसी बातें तो उपचुनाव में होती रहती है, महागठबंधन में दरार थोड़े ही आया है.

बता दें कि बिहार विधान सभा उपचुनाव की घोषणा के साथ ही बिहार का महागठबंधन बिखरता हुआ नजर आने लगा है. विधान विधान सभा की दोनों सीटों, कुशेश्वरस्थान और तारापुर में आरजेडी द्वारा उम्मीदवार की घोषणा के साथ ही कांग्रेस के साथ वर्षों पुराना गठबंधन टूट की कगार पर पहुंच गया है. कांग्रेस ने एक तरह से आरजेडी के साथ गठबंधन खत्म करने की भी घोषणा कर दी है और कहा है कि राजद को घमंड हो गया है.

Source : News18

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleजाप प्रमुख पप्पू यादव को बड़ी राहत, 32 साल पुराने किडनैपिंग केस में रिहा
Next articleमुजफ्फरपुर में पंडालों में विराजमान हुई मां दुर्गा, आज खुलेंगे मां के पट