पाकिस्तान की चाहे कितनी भी फजीहत क्यों न हो जाए, वह अंतरराष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर राग अलापने से बाज नहीं आता। शनिवार को पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र के मंच से भारत के खिलाफ जहर उगलने में कोई कसर नहीं छोड़ी, मगर हर बार की तरह इस बार भी भारत ने पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाई और आतंकवाद पर उसे आईना दिखा दिया। हालांकि, इस बार इमरान खान को करारा जवाब देने वालीं भारत की बेटी का नाम है स्नेहा दुबे।

संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने राइट टू रिप्लाई का इस्तेमाल कर पाकिस्तान के सारे पाप गिनाए और कहा कि आंतकियों को पनाह देना और आतंकवाद का खुला समर्थन करना पाकिस्तान का इतिहास रहा है। तो चलिए जानते हैं आखिर कौन हैं स्नेहा दूबे, जिनकी चर्चा खूब हो रही है।

जब से वह 12 वर्ष की थीं, तभी से वह भारतीय विदेश सेवा में शामिल होना चाहती थीं और वर्ष 2011 में अपने पहले प्रयास में ही सिविल सेवा परीक्षा पास कर गईं। घूमने-फिरने की शौकीन स्नेहा का मानना है कि आईएफएस ऑफिसर बनने से उन्हें देश का प्रतिनिधित्व करने का बेहतरीन मौका मिला है। स्नेहा अपने परिवार में सरकारी सेवाओं में शामिल होने वाली पहली हैं। उनके पिता एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करते हैं जबकि उनकी मां एक स्कूल टीचर हैं।

विदेश सेवा के लिए चुने जाने के बाद स्नेहा दुबे की पहली नियुक्ति विदेश मंत्रालय में हुई थी। फिर अगस्त 2014 में उन्हें मैड्रिड स्थित भारतीय दूतावास भेज दिया गया। स्नेहा वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र में भारत की पहली सचिव हैं। यहां बताना जरूरी है कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे, जहां वह पाकिस्तान को आतंकवाद पर घेर सकते हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के कश्मीर मुद्दे का राग अलापने पर भारत की स्नेहा दूबे ने उसके जवाब में कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जहां आतंकवादी बेरोक-टोक आ जा सकते हैं। वह ‘आग को भड़काने वाला” है जबकि खुद को ”आग बुझाने वाले” के रूप में पेश करने का दिखावा करता है और पूरी दुनिया को उसकी नीतियों के कारण नुकसान उठाना पड़ा है क्योंकि पाक आतंकवादियों को पालता है।संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में शुक्रवार को कहा, ‘पाकिस्तान के नेता द्वारा भारत के आंतरिक मामलों को विश्व मंच पर लाने और झूठ फैलाकर इस प्रतिष्ठित मंच की छवि खराब करने के एक और प्रयास के प्रत्युत्तर में हम जवाब देने के अपने अधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं।’

Source: Live Hindustan

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleतेजप्रताप की छात्र जनशक्ति परिषद् का नया लोगो बांसुरी, संगठन के पैड से राजद शब्द हटाया
Next articleशहरों की तरह जल्द रोशन होंगे गांव, 15 दिसंबर के बाद लगेंगी स्ट्रीट लाइट्स, खेल के मैदान में भी लगेंगे बल्ब