बिहार में कोरोना वायरस की तीसरी लहर के खतरे के बीच नीतीश सरकार ने अनलॉक 7.0 का गाइडलाइन जारी किया है. सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में निर्णय लिया गया है कि बिहार में अब सभी बच्चों के स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्रों को खोला जाएगा.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर जानकारी देते हुए कहा है कि आज कोरोना स्थिति की समीक्षा के बाद सरकार ने निर्णय लिया है कि राज्य के सभी छोटे बच्चों के स्कूल खोले जाएंगे.

इसके साथ ही आंगनबाड़ी खोलने का भी ऐलान बिहार सरकार की ओर से किया गया है. वहीं त्योहार में भीड़ को मैनेज के लिए किस तरह का नियम लागू करना है, ये जिला प्रशासन को तय करने की जिम्मेदारी दी गई है.

इन राज्यों से आने वाले लोगों के लिए कोविड रिपोर्ट जरूरी- सीएम नीतीश कुमार ने क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद बताया है कि कोरोना से जो राज्य अधिक प्रभावित हैं, उन राज्यों से आने वाले लोगों को कोविड रिपोर्ट जमा करानी होगी. इसके बाद ही बिहार में एंट्री मिलेगी. बता दें कि पिछले दिनों बिहार आने वाले कई लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया था.

बता दें कि इससे पहले राज्य के मुख्य सचिव ने जिलाधिकारियों से उनके जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति, टीकाकरण के प्रगति के साथ बाजार, माल, दुकानों में भीड़भाड़ को नियंत्रित करने को लेकर अभी तक की स्थिति पर चर्चा की. जिलों की ओर से मुख्य सचिव को जानकारी दी गयी कि राज्य में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में है. टीकाकरण को लेकर बताया गया कि लक्ष्य के अनुरूप जिलों को पर्याप्त वैक्सीन के डोज दिया जा रहे हैं

Source: Prabhat Khabar

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleदनादन चल रही थीं गोलियां, रोहिणी कोर्ट में मची भगदड़, एक्सक्लूसिव वीडियो
Next articleबिहार पंचायत चुनाव 2021: एक अंक से हार-जीत तो दोबारा होगी मतगणना, दो अंकों पर ऐसे होगा फैसला