बिहार में 25 सितंबर को अनलॉक-6 की मियाद खत्म हो रही है। ऐसे में गुरुवार को मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण ने सभी जिलाधिकारियों से फीडबैक लिया। शुक्रवार को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन समूह की बैठक हुई। इसमें 15 सितंबर से सभी आंगनवाड़ी केंद्र और छोटे बच्चों के स्कूल खोलने का फैसला लिया गया है। इसकी जानकारी खुद सीएम ने ट्वीट करके दी।

सीएम नीतीश ने ट्वीट कर कहा, ‘कोरोना महामारी संबंधी प्रतिबंधों के सकारात्मक परिणाम आए हैं। आज स्थिति की समीक्षा कर 15 नवंबर, 2021 तक सभी आंगनवाड़ी केंद्र एवं छोटे बच्चों के विद्यालय को खोलने का निर्णय लिया गया है।’

बिहार में अब त्योहारों के मद्देनजर भीड़ प्रबंधन के लिए जिला प्रशासन आदेश जारी करेंगे। सीएम ने कहा, ‘आगामी त्योहारों के दौरान जुलूस तथा भीड़ प्रबंधन हेतु जिला प्रशासन आदेश निर्गत करेंगे। कोरोना संक्रमण के ज्यादा मामले वाले राज्यों से आनेवाले यात्रियों की अनिवार्य कोविड जांच कराई जाएगी।’

इसके अलावा सीएम ने कहा कि सभी पात्र व्यक्तियों का टीकाकरण कराया जाएगा। पूर्व के शेष निर्णय जारी रहेंगे। अभी भी कोविड अनुकूल व्यवहार और सावधानी जरूरी है। बता दें कि इससे पहले 25 अगस्त को अनलॉक-6 में सरकार ने लोगों को काफी छूट दी थी। जहां बड़े बच्चों के स्कूल खोले गए वहीं सार्वजनिक स्थलों पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया गया था।

Source: Live Hindustan

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleजानिए इस बार कब से शुरू हो रहा है नवरात्रि का पर्व, ये है पूजन विधि और घटस्थापना का शुभ मुहूर्त
Next articleमधुबनी में दिनदहाड़े फायरिंग कर कैश वैन के रुपए लूटने की कोशिश, गार्ड को लगी गोली