रोहतास जिले के चेनारी प्रखंड क्षेत्र के पांडेयडीही गांव के उमाकांत पांडेय की बेटी प्रज्ञा पांडेय ने उतराखंड के नैनिताल (हल्द्वानी) में एसएसआर इंटरनेशनल द्वारा आयोजित मिस एंड मिसेज इंडिया 2018-19 प्रतियोगिता में मिसेज इंडिया ईस्ट का खिताब हासिल किया. बता दें कि इस खिताब की दावेदारी के लिए 30 प्रतिभागी थीं. जिसमें प्रज्ञा ने यह खिताब जीत जिला ही नहीं सूबे का नाम देशभर में रौशन किया है. यह प्रतियोगिता 29 नवंबर को आयोजित हुई थी.

विदित हो कि प्रज्ञा इसी साल जुलाई महीने में मिसेज बनारस प्रतियोगिता में रनर रही थी. इस जीत के साथ ही प्रज्ञा का हौसला बुलंद हुआ और उसने नवंबर 2018 में मिसेज इंडिया की प्रतिस्पर्द्धा में शामिल होकर टॉप टेन में जगह बनाते हुए अंतिम रूप से मिसेज इंडिया का ताज हासिल किया. उनकी इस उपलब्धि पर जिले समस्त युवाओं में उत्साह व हर्ष का माहौल है.

प्रज्ञा ने बातचीत के दौरान बताया कि उनकी मैट्रिक व इंटर एवं स्नातक की पढ़ाई चेनारी से हुईं थीं. जबकि शादी के बाद महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ से स्नातकोत्तर की डिगरी ली. बता दें कि प्रज्ञा की शादी बनारस निवासी अमित कुमार पाण्डेय से हुई. प्रज्ञा गृहणी हैं और उनके पति डॉ. अमित कुमार तिवारी आर्थोपेडिक सर्जन हैं. प्रज्ञा का 13 साल का बेटा भी है.

अपनी इस सफलता पर प्रज्ञा ने बताया कि मिस बनारस प्रतियोगिता में एक पूर्व मिसेज इंडिया मल्लिका राय से मुलाकात हुई थी, जिनसे उसने मिसेज इंडिया प्रतियोगिता के बारे में जानकारी ली थी. मिसेज बनारस में रनर रहने के समय ही प्रज्ञा ने ठान लिया था कि मिसेज इंडिया प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करूंगी. प्रज्ञा की मेहनत रंग लायी, जहां प्रज्ञा ने राष्ट्रीय स्तर की सफलता हासिल की.

प्रज्ञा ने कहा कि शादी के बाद लाइफ खत्‍म नहीं हो जाती है. पति, बच्‍चे और परिवार सबकी अपनी अहमियत है, मगर अपने लिए जीना भी उतना ही जरूरी है. आज इस कंटेस्‍टेंट में भाग लेकर मुझे खुद पर भी गर्व हो रहा है. इसमें मेरे पति और परिवार का फुल सपोर्ट मिला है. प्रज्ञा ने सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, पति एवं परिवार को दी.

Previous articleबिहार में मेला देखने निकले सेना के जवान का पकडुआ विवाह
Next articleपर्दे की ये ‘बिहारन’ जीत रही लोगों का दिल, बिहारी टोन के दीवाने हैं सब