नए कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के नेतृत्व में 40 किसान संगठनों ने सुबह छह बजे से सायं चार बजे तक भारत बंद का आह्वान किया है। बिहार में इसे विपक्षी महागठबंधन सहित कई अन्‍य राजनीतिक दलों का समर्थन मिला है। बंद को समर्थन देने के लिए विपक्षी दल सड़कों पर भी उतरेंगे।

ऐसे में कानून-व्‍यवस्‍था बनाए रखने के लिए पुलिस-प्रशासन पहले से अलर्ट है। हालांकि, किसान संगठनों ने बंद के शांतिपूर्ण रहने का दावा किया है। बंद के दौरान राज्य सरकार के कार्यालयों, बाजारों, दुकानों, कारखानों, शैक्षणिक संस्थानों तथा सार्वजनिक व निजी परिवहन को काम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

विदित हो कि नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के विरोध-प्रदर्शन के 10 महीने हो चुके हैं। इस मामले में न तो किसान और न हीं सरकार झुकने को तैयार हैं।

06:45 AM- बंद को देखते हुए पटना में जिला नियंत्रण कक्ष में दो एम्बुलेंस और फायर ब्रिगेड की गाडि़यों को अलर्ट मोड में रखा गया है। पटना में स्कूल बसों सहित अन्‍य वाहनों के सामान्‍य परिचालन के लिए अतिरिक्त पुलिस बल प्रतिनियुक्त किया गया है। रेल एसपी को रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ और जीआरपी की तैनाती की जिम्मेदारी दी गई है।

Source: Dainik Jagran

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleबिहार पंचायत, मुखिया चुनाव रिजल्ट: पहले चरण में आए चौंकाने वाले नतीजे, 80% मुखिया चुनाव हारे
Next articleबंगाल की खाड़ी में उठे तूफान गुलाब का बिहार में दिखेगा असर, इन इलाको में हो सकती है बारिश