गर्मी अपना दम दिखाना शुरू कर दिया है। भीषण गर्मी से लोग परेशान हैं। इसका असर क्षेत्र की सड़कों पर खूब देखने को मिल रहा है। दोपहर में सड़कों पर एकाध को छोड़ जरूरत पड़ने पर ही राहगीर और बाइक सवार निकल रहे हैं। पुरवैया हवा से चिपचिपाहट युक्त गर्मी और उमस के कारण जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हो रहा है। पारा 40 डिग्री तक पहुंच चुका है। इस बीच लू ने भी लोगों को हलकान कर दिया है। इस मौसम में लोग हलकान व परेशान हैं।

तेज धूप व गर्मी के कारण भू जलस्तर भी नीचे चला जा रहा है। परिणामस्वरूप कई चापाकल भी फेल हो चुके हैं तो कई काफी कम पानी दे रहा है। रविवार को भी हरनाटांड़ का पारा 40 डिग्री से उपर रहा। मौसम में आए इस बदलाव से जहां स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है वहीं सब्जी के पौधे भी सूखने लगे हैं। लोगों का कहना है कि शरीर के अलावा पूरे चेहरा को कपड़ा से ढ़ंकने के बाद भी धूप का असर पड़ रहा है। वहीं दो पहिया वाहन चलाने वाले लोगों ने कहा कि बाइक चलाने के दौरान धूप व गर्म हवा का असर काफी अधिक हो रहा है।

परिणामस्वरूप कई चापाकल भी फेल हो चुके हैं तो कई काफी कम पानी दे रहा है। रविवार को भी हरनाटांड़ का पारा 40 डिग्री से उपर रहा। मौसम में आए इस बदलाव से जहां स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है वहीं सब्जी के पौधे भी सूखने लगे हैं। लोगों का कहना है कि शरीर के अलावा पूरे चेहरा को कपड़ा से ढ़ंकने के बाद भी धूप का असर पड़ रहा है। वहीं दो पहिया वाहन चलाने वाले लोगों ने कहा कि बाइक चलाने के दौरान धूप व गर्म हवा का असर काफी अधिक हो रहा है। मौसम के तल्ख तेवर से सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या भी काफी बढ़ गई है। अस्पतालों में काफी भीड़ हो रही है।

वहीं पढ़ने वाले छात्र-छात्रओं को दस बजे के बाद आने-जाने में परेशानी हो रही है। इस बीच गर्मी का तेवर देखकर कई को¨चग संचालकों ने एहतियात के तौर पर को¨चग की टाइ¨मग में भी परिवर्तन किया है ताकि बच्चों के जीवन में कठिनाई न आए। दूसरी ओर गर्मी की तीखी तेवर से दोपहर में बाजारों में सन्नाटे छा जा रहे हैं। आवश्यक कार्य से ही लोग अपने घरों से बाहर निकलना चाहते हैं। गर्मी का हाल यह है कि दस बजे ही बाजार में सन्नाटा छाने लगता है। पूरे क्षेत्र में गर्मी चरम पर है। गर्मी के साथ पानी की दिक्कत भी आरंभ हो गई है। बाजार में पानी बेचने वालों की चांदी कट रही है। बोतल बंद पानी पूरे बाजार में बिक रहा है। जबकि लोग गर्मी से निजात के लिए ज्यादातर शीतल पेय पदार्थों के साथ गन्ना का जूस व खीरा व खरबूजा पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। अधिक गर्मी होने के कारण सभी घरों में कूलर, पंखा, फ्रीज व अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरण चल रहें हैं। जिसके कारण बाजारों में इस प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की बिक्री भी बढ़ गई है।


गर्मी दूर करने के लिए करें संतुलित भोजन : हरनाटांड़ के चिकित्सक डॉ. प्रदीप कुमार गिरी बताते हैं कि इस भीषण गर्मी में पानी की कमी, लू लगने, दस्त, टाइफायड, फंगल इंफेक्शन आदि की संभावना बनी रहती है। इसके लिए साफ-सफाई बहुत जरूरी है। इस मौसम में गर्मी से बचने का प्रयास करें और ठंडे स्थान पर रहें। धूप में जब निकले तो खूब पानी पीकर निकलें। बदन को ढंक कर रखें। सर को गमछा अथवा टोपी से ढंके। मुंह को गमछा से बांधें। धूप में अच्छी कंपनी के गोगल्स का इस्तेमाल करें। ठंडा पानी पीएं। ताजा भोजन करें। ध्यान रहे कि मक्खियां जहां हो वहां का खाना नहीं खाएं। सड़क किनारे ऐसी जगह का ईख का जूस पीएं, जहां सफाई का ध्यान दिया जाता है। अभी के मौसम को देखते हुए तला भूना और अधिक मिर्च मसालेदार खाने से परहेज करें। ताजा व गर्म खाना खाएं। बाहर खुले में खाना न खाएं। इस मौसम में ज्यादा से ज्यादा ऐसी चीजें खाएं जिससे आपके पेट को ठंडक मिले। मौसमी फल और सब्जियां जैसे कि खीरा, तरबूज, खरबूज, पुदीना, कच्चा नारियल आदि इस मौसम में आसानी से मिल जाता है। यह शरीर में पानी की कमी को भी दूर करता हैं।

Previous articleBREAKING : लीची की दुकान से हुआ शराब बरामद
Next articleआईपीएल फाइनल- हैदरबाद की गेंदबाजी व चेन्नई की बल्लेबाजी के बीच होगी जंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here