साहू पोखर रोड स्थित पूर्व में संचालित बालिका भवन को तोड़ा जाएगा। भवन के जर्जर होने से नगर निगम इसे तोडऩे की कार्रवाई करेगा। इसमें रखे सामान को लेकर संशय की स्थिति है। इसको लेकर बाल संरक्षण इकाई के सहायक निदेशक उदय कुमार झा ने निदेशक से मार्गदर्शन मांगा है। साथ ही नगर आयुक्त को सामान नीलामी का प्रस्ताव भी भेजा है। मालूम हो कि नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने सहायक निदेशक को पत्र भेजकर सूचना दी थी कि पूर्व में संचालित बालिका भवन काफी जर्जर हो गया है।वह कभी गिर सकता है। इससे इसे ध्वस्त करना अनिवार्य है।

यहां के छह कमरों में रखा सामान सुरक्षित जगह पर स्थानांतरित किया जाए। इसके आलोक में सहायक निदेशक ने निदेशक को पत्र भेजकर कहा कि मामला उच्च न्यायालय में अपील के विचाराधीन होने से संशय की स्थिति है। बालिका गृह के जर्जर भवन के छह कमरों में सामान रखा है। काफी दिनों से सामान रखा होने से खराब हो गया है।

इसे उपयोग में नहीं लाया जा सकता। वहीं जिले में वर्तमान में संचालित सभी गृहों में क्षमता से अधिक बालकों के आवासित होने से यहां सामान नहीं रखा जा सकता। इस बारे में नगर आयुक्त को सामान की नीलामी का सुझाव प्रस्तावित है। उन्होंने निदेशक से इस संबंध में मार्गदर्शन का आग्रह किया है।

Source: Dainik Jagran

(मुजफ्फरपुर नाउ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Haldiram Bhujiawala, Muzaffarpur - Restaurant

Previous articleमुजफ्फरपुर जंक्शन पर यात्रियों के लिए एक विशेष सुविधा, मुख्य गेट पर बनेगा चार-पांच गाडिय़ों के रुकने का बस स्टाप
Next articleमाड़ीपुर से चंद्रलोक चौक तक चला अतिक्रमण के खिलाफ अभियान