शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा में बंद एक कैदी ने गुरुवार को ब्लेड से गला रेत आत्महत्या का प्रयास किया। घटना के वक्त वह सेल में बंद था। जेल प्रशासन ने उसे आनन-फानन में एसकेएमसीएच में भर्ती कराया है। इलाज कर रहे डॉक्टर ने उसकी हालत गंभीर बताई है। कैदी बेतिया के मनुआपुल थाने के खैरतिया गांव का रंजीत तिवारी (35) है। वह गांजा तस्करी में दस साल की सजा काट रहा है। तीन साल पूर्व चांदनी चौक के पास से गांजा के साथ पकड़ा गया था।

रंजीत ने अहियापुर पुलिस को बताया कि दो सप्ताह पूर्व जेल के अंदर बंदियों के साथ मारपीट की घटना हुई थी। जेल प्रशासन ने उसे सेल में बंद कर दिया गया था। सेल में बंद अन्य कैदी उसे प्रताड़ित कर रहे थे। वह सेल से बाहर निकालने के लिए बराबर जेल प्रशासन से गुहार लगा रहा था। अंत में प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या के लिए ब्लेड से खुद का गला रेत लिया।

कैदियों के साथ मारपीट के बाद उसे विशेष निगरानी के लिए सेल में रखा गया था। उसने क्यों आत्महत्या का प्रयास किया, इसकी जांच की जा रही है। सेल में बंद अन्य कैदियों से इसको लेकर पूछताछ की गई है। जांच व पूछताछ के बाद कैदी के बयान के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Input : Live Hindustan

Previous articleहोटल मालिक व संचालक समेत 10 को जेल
Next articleमुजफ्फरपुर में पति के 4 लाख नगद व जेवर लेकर बहनोई के साथ फरार हुई महिला अरेस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here