फेयरफैक्स. अमेरिका में माफिया गैंग से जुड़ी एक लड़की को शुक्रवार को 40 साल जेल की सजा सुनाई गई है। उसे 15 साल की एक लड़की को टॉर्चर और मर्डर करने का दोषी बनाया गया है। उसे शक था कि टीनेज लड़की ही उसके ब्वॉयफ्रेंड के मर्डर की जिम्मेदार है। सजा सुनाए जाने के बाद आरोपी लड़की ने कहा कि ये उसकी जिंदगी का सबसे घटिया अपराध है और इसे अंजाम देने के बाद से उसे इतने खराब सपने आ रहे हैं कि उसके लिए सोना मुश्किल हो गया है।

जिंदगी की सबसे घटिया गलती

– वर्जीनिया की फेयरफैक्स काउंटी की रहने वाली वीनस रोमेरो इराहिता को शुक्रवार को कोर्ट में मर्डर के मामले में सजा सुनाई। उसने 15 सास की डेमारिस एलेक्जेंड्रा को 13 बार चाकू घोंपे थे।

– कोर्ट में हुई सुनवाई में ये भी बताया गया कि डेमारिस को मौत देने से पहले बहुत टॉर्चर भी किया गया। उसकी बॉडी पर जहां भी टैटू बने थे उन्हें चाकू से काटकर निकाला गया और इन सबका वीडियो भी बनाया।

– फरवरी 2017 की इस घटना के लिए फेयरफैक्स काउंटी कोर्ट ने शुक्रवार को उसे फर्स्ट डिग्री मर्डर, किडनैपिंग और क्रिमिनल एक्ट का दोषी पाया है। इसके चलते उसे 40 साल जेल में गुजारने होंगे।

– सजा सुनाए जाने के बाद डेमारिस की मां ने कहा कि मैं वीनस से सिर्फ इतना ही कहना चाहती हूं कि इसने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी। इसने मेरी बेटी की जिंदगी बर्बाद कर दी। मेरी बेटी तो स्वर्ग में है लेकिन तुम्हें नर्क में ही जगह मिलेगी।

– वहीं, दोषी वीनस ने माना कि उससे जिंदगी का सबसे घटिया अपराध हुआ है। रात में मैं जब सोती हूं तो सपने भी मुझे सोने नहीं देते हैं। वहीं सारी यादें मेरे दिमाग में घूमती हैं। मैं चाहती हूं कि इनसे मेरा पीछा छूट जाए।

ऐसे दिया मर्डर को अंजाम

– घटना वर्जीनिया के स्प्रिंगफील्ड में हुई, जब 11 फरवरी 2017 को विमसैट रोड पर इंडस्ट्रियल पार्क से एलेक्जेंड्रा की डेडबॉडी मिली थी। उसकी हत्या 8 जनवरी को ही कर दी गई थी। उसकी गर्दन और पेट पर 13 बार चाकू घोंपे गए थे।

– पिछले साल मई में सुनवाई में प्रॉसीक्यूटर ने वीनस को इस मामले में मुख्य आरोपी बनाया था। एफबीआई के स्पेशल एजेंट फर्नान्डो उरीब ने कोर्ट में बताया था कि ये मर्डर लव ट्राएंगल का नतीजा है। ये दोनों लड़कियां क्रिस्टियन सोसा रिवस नाम के लड़के के साथ अफेयर में थीं, जिसकी डेडबॉडी एलेक्जेंड्रा की मौत के बाद 12 जनवरी को मिली।

– उरीब के मुताबिक, एमएस-13 गैंग के मेंबर ने एलेक्जेंड्रा को मारिजुआना लेने के बहाने 8 जनवरी को घर से बुलाया और उसे स्प्रिंगफील्ड के इंडस्ट्रियल पार्क के पास ले गया।

– यहां पर वीनस पहले से मौजूद थी और यहां उसने एलेक्जेंड्रा से क्रिस्टियन के साथ रिलेशनशिप को लेकर कई सवाल किए। उसने क्रिस्टियन की गुमशुदगी के बारे में भी पूछा।

– इतना ही, वीनस ने खुद को क्रिस्टियन की गर्लफ्रेंड बताया और इसके बाद वीनस और उसके साथी गैंग मेंबर्स ने मिलकर एलेक्जेंड्रा का मर्डर कर दिया। बता दें, क्रिस्टियन भी इस गैंग का ही मेंबर था, जो काफी समय से लापता था।

Previous articleबिहार का एक शहर, जहां चूहा पकड़ने पर मिलेगा पांच रुपये का इनाम …जानिए मामला
Next articleमहापर्व छठ का दूसरा दिन: आज है खरना, डूबते सूर्य को कल दिया जायेगा पहला अर्घ्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here