श्राद्ध पक्ष के अब कुछ ही दिन शेष रह गए हैं. इसके ठीक बाद नवरात्रि पर्व की शुरुआत हो जाएगी. आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से प्रारंभ होने वाला ये पर्व शारदीय नवरात्र कहलाता है. शारदीय नवरात्र देवी शक्ति मां दुर्गा की उपासना का उत्सव है. नौ दिनों में देवी शक्ति के नौ अलग-अलग रूप की पूजा-आराधना की जाती है.

एक वर्ष में आते हैं पांच नवरात्र
दरअसल, एक वर्ष में पांच बार नवरात्र आते हैं, चैत्र, आषाढ़, अश्विन, पौष और माघ नवरात्र. इनमें चैत्र और अश्विन यानि शारदीय नवरात्रि को ही मुख्य माना गया है. इसके अलावा आषाढ़, पौष और माघ गुप्त नवरात्रि होती है. शारदीय नवरात्रि अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नवमी तक मनाई जाती है.

बिहार-झारखंड में नवरात्र की परंपरा
बिहार और झारखंड राज्य में दुर्गा पूजा की परंपरा काफी अलग है. यहां की पूजा में कुछ-कुछ बंगाल की छाप भी दिखाई देती है. जहां देवी दुर्गा को शक्ति के साथ ही साथ तंत्र की भी देवी माना जाता है. ऐसे में उनके कालिका स्वरूप की पूजा बहुतायत में की जाती है. यही वजह है कि नवरात्र के दौरान बिहार के मंदिरों में बलि की परंपरा नजर आती है तो वहीं इस दौरान महिलाएं घरों से नकारात्मक शक्तियों को दूर करने के उपाय भी करती हैं.

biology-by-tarun-sir

सांस्कृतिक और पौराणिक मान्यता
नवरात्रि में देवी शक्ति माँ दुर्गा के भक्त उनके नौ रूपों की बड़े विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना करते हैं. नवरात्र के समय घरों में कलश स्थापित कर दुर्गा सप्तशती का पाठ शुरू किया जाता है. नवरात्रि के दौरान देशभर में कई शक्ति पीठों पर मेले लगते हैं. मंदिरों में जागरण और मां दुर्गा के विभिन्न स्वरूपों की झांकियां बनाई जाती हैं. शास्त्रों के अनुसार नवरात्रि में ही भगवान श्रीराम ने देवी शक्ति की आराधना कर राक्षस रावण का वध किया था और समाज को यह संदेश दिया था कि बुराई पर हमेशा अच्छाई की जीत होती है.

इस दिन होगी कलश स्थापना
नवरात्रि का त्योहार कलश स्थापना से आरंभ होता है. शरद नवरात्रि में कलश स्थापना प्रतिपदा तिथि यानी 07 अक्टूबर को होगी. कलश स्थापना के साथ ही नवरात्रि के त्योहार की विधि-विधान शुरुआत मानी जाती है.

नवरात्रि प्रारंभ- 07 अक्टूबर 2021, गुरुवार
नवरात्रि नवमी तिथि- 14 अक्टूबर 2021, गुरुवार
नवरात्रि दशमी तिथि- 15 अक्टूबर 2021, शुक्रवार
घटस्थापना तिथि- 07 अक्टूबर 2021, गुरुवार

Source: Zee Media

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleपारले जी बिस्कुट नहीं खाने से होगी अनहोनी, अफ़वाह के बाद बिस्कुट आउट ऑफ स्टॉक
Next articleबिहार में आज होगा कोरोना टीकाकरण के महाअभियान का आगाज, 35 लाख से अधिक लोगों को लगेगी वैक्सीन