सेंट्रल बोर्ड आफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) के निर्देश पर सोमवार से राजधानी के स्कूलों में 10वीं एवं 12वीं के छात्र-छात्राओं के परीक्षा फॉर्म भरने की प्रक्रिया तेज हो जाएगी। इसके लिए स्कूलों कीे ओर से अभिभावकों को मैसेज भेजा जा रहा है। अगर छात्रों ने 30 सितंबर के बाद फॉर्म भरा तो उन्हें दो हजार रुपये जुर्माना देना पड़ेगा। ऐसे में छात्र और अभिभावकों को तय तिथि से पहले ही फॉर्म भरना होगा।

स्कूलों ने फार्म भरने की तैयारी शुरू

एसोसिएशन आफ पब्लिक स्कूल्स के अध्यक्ष डा. सीबी सिंह का कहना है कि सीबीएसई के निर्देश के बाद स्कूलों ने फार्म भरने की तैयारी शुरू कर दी है। वहीं एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष एके नाग ने कहा कि फॉर्म भरने के लिए सभी अभिभावकों को मैसेज कर दिया गया है। सीबीएसई ने इसके लिए अंतिम तिथि 30 सितंबर निर्धारित की है। उसके बाद फार्म भरने पर 2000 रुपये जुर्माना का प्रावधान किया गया है। विलंब शुल्क के साथ एक से नौ अक्टूबर तक फॉर्म भरा जाएगा। 12वीं के छात्रों को प्रायोगिक परीक्षा का शुल्क 150 रुपये देना होगा।

इस साल दो टर्म में आयोजित होगी परीक्षा

मालूम हो कि सीबीएसई इस वर्ष दो टर्म में परीक्षा आयोजित करेगा। प्रथम टर्म की परीक्षा नवंबर-दिसंबर एवं दूसरे टर्म की फरवरी-मार्च में आयोजित की जाएगी। परीक्षा की तैयारी को लेकर बोर्ड जल्द से जल्द फॉर्म भरना चाहता है। इसको लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है।

– सीबीएसई ने अभिभावकों को किया सावधान  – प्रथम टर्म की परीक्षा को लेकर विशेष निर्देश  – नवंबर-दिसंबर में आयोजित होगी प्रथम टर्म की परीक्षा

सीबीएसई द्वारा निर्धारित शुल्क (रुपये में) :

  • परीक्षा के लिए आवेदन शुल्क : 1500
  • एससी-एसटी के लिए शुल्क : 1200
  • विलंब शुल्क :                  2000
  • माइग्रेशन शुल्क :                 350
  • 12वीं के लिए प्रायोगिक परीक्षा शुल्क :  150

Source:  Dainik Jagran

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleतेजस्वी की झारखंड सीएम हेमंत सोरेन से मुलाकात पर जदयू का हमला, चुप्पी बहुत कुछ कहती है
Next articleनीतीश कुमार को लोजपा की तरफ से फिर मिलेगा निमंत्रण, पारस बोले-पटना में होगा ऐतिहासिक आयोजन