बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से बुधवार को स्नातक सत्र-2021-24 में नामांकन को लेकर तीसरी मेधा सूची जारी की जाएगी। इसके माध्यम से 33 हजार विद्यार्थियों को नामांकन का मौका मिलेगा। दोपहर बाद विवि की वेबसाइट पर सूची जारी की जाएगी।

छात्र कल्याण अध्यक्ष प्रो.अजीत कुमार ने बताया कि तीसरी सूची में ऐसे विद्यार्थियों को भी नामांकन का मौका मिलेगा जो किसी कारण से पहली व दूसरी सूची में वंचित रह गए हों। जिन छात्रों का नाम अबतक मेधा सूची में आया ही नहीं उनके लिए विवि की ओर से चार दिनों तक पोर्टल खोलकर फार्म को एडिट करने का विकल्प दिया गया था। काफी कम संख्या में विद्यार्थियों ने फार्म को एडिट किया है। 24 अक्टूबर को सभी कालेजों को विवि के पोर्टल पर नामांकन की स्थिति अपडेट करनी है।

नए कालेजों में रिक्त सीटों पर लिया जाएगा नामांकन

जानकारी के अनुसार साइंस संकाय में जूलाजी, भौतिकी, गणित व आर्ट संकाय के कई विषयों में रिक्त सीटों की संख्या कम है। इसके अलावा अन्य विषयों में काफी सीटें रिक्त हैं। सरकार की ओर से आधा दर्जन डिग्री कालेजों को बाद में मान्यता मिली। इससे उनमें नामांकन नहीं हो सका है। तीसरी सूची के बाद जब नामांकन समाप्त हो जाएगा तो इन कालेजों में सीटों को भरने के लिए जिलावार विद्यार्थियों को मौका दिया जाएगा।

1.53 लाख हैं सीटें, 1.43 लाख आए थे आवेदन

विवि की ओर से सभी विषयों को मिलाकर कुल 1.53 लाख सीटें निर्धारित हैं। नए सत्र में नामांकन के लिए कुल 1.43 लाख विद्यार्थियों ने आवेदन दिया था। पहली सूची में 88 हजार विद्यार्थियों को शामिल किया गया। वहीं, दूसरी सूची 13,500 सीटों के लिए जारी हुई। तीसरी सूची 33 हजार सीटों के लिए जारी की जाएगी।

रिक्त सीटों पर अतिथि प्राध्यापकों की नियुक्ति का रास्ता साफ

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से विभिन्न अंगीभूत कालेजों में रिक्त पदों पर अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है। एक से 20 नवंबर तक इसके लिए विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर आवेदन लिया जाएगा। वहीं 31 नवंबर तक कुलसचिव कार्यालय में इसकी हार्ड कापी जमा करानी है। इसके बाद नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

बता दें कि पिछले वर्ष नियुक्त अतिथि प्राध्यापकों का नवीनीकरण कर दिया गया है। इसमें कुछ प्राध्यापक जो दो संस्थानों में सेवा दे रहे थे उन्हें बाहर कर दिया गया है। इस वर्ष कालेजों में काफी प्राध्यापक सेवानिवृत्त हो गए हैं। इससे पठन-पाठन प्रभावित हो रहा है। अभ्यर्थियों की ओर से लगातार अधिसूचना जारी करने की मांग की जा रही थी। इसको देखते हुए कालेजों से सूची मंगवाकर उसी आधार पर अभ्यर्थियों की नियुक्ति की जाएगी।

Source: Dainik Jagran

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Previous articleदीपावली व छठ पूजा को लेकर ट्रेनों में बढ़ी भीड़, जान‍िए क‍िन ट्रेनों में सीटें खाली
Next article5.6 करोड़ के नोटों से सजाया मां दरबार; 7 किलो सोने, 60 किलो चांदी के जेवर भी