भगवानपुर स्थित दो होटलों के कमरे से आपत्तिजनक स्थिति में पकड़े गए आठ युवकों के साथ होटल मालिक व संचालक के खिलाफ सदर थाने में एफआईआर दर्ज की गई। गुरुवार को महिला थानेदार ज्योति कुमारी के बयान पर इम्मोरल ह्यूमन ट्रैफिकिंग समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है। मामले के आईओ नगर थानेदार मो. सुजाउद्दीन बनाए गए हैं। सदर पुलिस ने सभी गिरफ्तार आरोपितों को कोर्ट में पेश किया जहां से सभी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

जेल भेजे गए आरोपितों में होटल मालिक मुकुल कुणाल, दूसरे होटल का संचालक शंभू प्रसाद, पूर्वी चंपारण के राजेपुर का राहुल कुमार राज, कांटी के दामोदरपुर का अमित सर्राफ व पवन कुमार, सरैया के धनपुरा का मंजीत कुमार, मड़वन का राकेश कुमार व मुकेश कुमार प्रभाकर, कांटी के शुभंकरपुर का नरेश कुमार और मोतीपुर के हरशाहा का अर्जुन कुमार शामिल है।

वहीं, होटल के कमरे से पकड़ाई सात युवतियों को बुधवार की देर रात पूछताछ व सत्यापन के बाद मेडिकल जांच कराकर पीआर बांड पर परिजनों के हवाले कर दिया गया। एक महिला के परिजन के नहीं आने पर उसे अल्पावास गृह भेज दिा गया। युवतियों ने पुलिस को बताया कि सभी युवक आपस में एक-दूसरे से परिचित हैं। अनैतिक कार्य करने की नीयत से युवतियों को होटलों में ले जाया गया था। होटल मालिक व संचालक भी इसमें शामिल था। पुलिस दोनों होटलों को सील करने की कवायद में जुटी है। इस घटना के बाद पुलिस की रडार पर दो दर्जन होटल हैं। इन सभी होटलों पर विशेष टीम को नजर रखने का आदेश दिया गया है।

Input : Live Hindustan

Previous articleसचिन के मैरेज डे पर मुजफ्फरपुर से लीची की सौगात लेकर पहुंचे सुधीर
Next articleमुज़फ़्फ़रपुर जेल में कैदी ने की सुसाइड की कोशिश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here