गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति द्वारा दिए जानेवाले पुलिस पदक के लिए बिहार से 29 पुलिस जांबाजों के नामों की अनुशंसा की गई हैं। इसमे विशिष्ट सेवा पदक के लिए 7 जबकि सराहनीय सेवा पदक के लिए 22 पुलिस अधिकारियों व कर्मियों के नाम भेजे गए हैं। बिहार सरकार द्वारा नामों की अनुशंसा गृह मंत्रालय से कर दी गई हैं।

विशिष्ट सेवा पदक के लिए 7 पुलिस अफसरों के भेजे गए नाम

बिहार सरकार द्वारा गृह मंत्रालय को जिन 7 पुलिस अफसरों के नामों की अनुशंसा विशिष्ट सेवा के पदक के लिए की गई हैं उसमें 3 आईपीएस और 4 अन्य रैंक के पुलिस अफसर हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इनमें एडीजी एडीजी पारसनाथ, एडीजी बच्चु सिंह मीणा, और रवीन्द्रन शंकरण का नाम शामिल है। इनके अलावा विशिष्ट सेवा पदक के लिए दिलीप कुमार सिंह, विनय कुमार शर्मा, बिनय कृष्ण और रंजीत कुमार के नाम भी भेजे गए हैं।

सराहनीय सेवा पदक के लिए 22 नामों की अनुशंसा

विशिष्ट सेवा पदक के लिए बिहार पुलिस के 22 अधिकारियों और कर्मियों के नाम की अनुशंसा की गई हैं। इसमें मुख्तार अली, सरवर खां, ओम प्रकाश सिंह, संजय कुमार, धनंजय कुमार, अवधेश कुमार सिंह, आलमनाथ भूईया, देवेन्द्र कुमार, संतोष कुमार दीक्षित, संजय कुमार शेखर, धर्मराज शर्मा, संजय कुमार चौरसिया, रूपेश थापा, आलोक कुमार, बैद्यनाथ कुमार, अक्षयबर पाण्डेय, सत्येन्द्र कुमार,पंचरत्न प्रसाद गौंड, बॉस इंड, विनय कुमार, रासबिहारी चौधरी और सिकंदर कुमार के नाम शामिल हैं। ये पुलिस में अलग-अलग रैंक और स्थलों पर तैनात हैं।

हर साल दो बार मिलता हैं यह पदक

भारत मे प्रत्येक वर्ष दो बार (गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर) राष्ट्रपति पुलिस पदक प्रदान किए जाते हैं। गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के पूर्व इसकी घोषणा होती हैं। इसके लिए बहादुरी भरे कार्य के लिए पुलिसकर्मियों को गैलेंट्री से अलंकृत किया जाता हैं। इसके अलावा विशिष्ट और सराहनीय सेवा पदक भी प्रदान किए जाते हैं। राज्य सरकारों और केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों द्वारा इसके लिए गृह मंत्रालय को नामों की अनुशंसा की जाती हैं। गृह मंत्रालय के अधीन स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा समीक्षा कर नामों का चयन पदक के लिए किया जाता हैं।

Previous articleहर घर गंगा जल का आज सीएम करेंगे उद्घाटन : बोधगया के 6 हजार और गया के 60 हजार घरों मे होगी गंगाजल की सप्लाई
Next articleसीएम नितीश के सामने उपेंद्र कुशवाहा का ऐलान : बोले- मर जाऊंगा पर बीजेपी में कभी नहीं जाऊंगा