कलयुगी बेटे की करतूत से एक बार फिर मानवता शर्मसार हो गई। अपनी 80 साल की बूढ़ी मां को अनजान शहर में सड़क पर बेसहारा छोड़ दिया। काफी इंतजार बाद भी जब बेटा नहीं आया तो बेबस मां की आंखों से आंसू बहने लगे। उसे रोता देख लोगों की भीड़ लग गई। भीड़ के बीच में भी बूढ़ी मां की आंखें बेटे को तलाशती रही। इतना सबकुछ होने के बावजूद वह अपने बेटे की सलामती के लिए चिंतित थी। जुबान पर सिर्फ उसका ही नाम था।

यह दर्दनाक दृश्य शुक्रवार की रात माड़ीपुर पावर हाउस चौक के पास लोगों को देखने को मिला। भीड़ से घिरी वृद्धा घबरा गई। सूचना पर सामाजिक कार्यकर्ता नूसरत जहां पहुंचीं। उन्होंने वृद्धा को संभाला और उनके बारे में जानकारी ली। वृद्धा ने अपना नाम जहांआरा खातून व पति का नाम अब्दुल सत्तार बताया। बताया कि बेटे मो. इरफान उर्फ बिट्टू के साथ शहर आयी थी। हालांकि वह कभी सीतामढ़ी के सोनवर्षा तो कभी दरभंगा की रहने वाली बता रही थी। इसके बाद स्थानीय वार्ड पार्षद एनामुल हक वृद्धा को लेकर काजीमोहम्मदपुर थाने गए। वहां पूछताछ के बाद बीएमपी छह मालीघाट स्थित वृद्धा आश्रम भेज दिया गया।

APPLY THESE STEPS AND GET ALL UPDATES ON FACEBOOK

बेटे के साथ अनहोनी की जता रही थी आशंका:

सामाजिक कार्यकर्ता ने बताया कि वृद्धा से पूछताछ में चला कि उसका बेटा एक रिश्तेदार के घर चलने की बात कह रिक्शा पर बैठा था। इस दौरान वह बहाने से मां को रिक्शा पर ही छोड़ निकल गया। नूसरत जहां ने बताया कि वृद्धा से बातचीत करने पर लगा कि वह अच्छे परिवार से ताल्लुक रखती है। घर से कम निकलती थी। इस कारण से भौगोलिक स्थिति का ज्यादा अंदाजा नहीं है। वह बेटे के साथ बार-बार किसी अनहोनी की आशंका जता रही थी।

मिठाई लाने की बात कह चला गया था बेटा:

रिक्शा चालक ने बताया कि ईमलीचट्टी स्थित सरकारी बस स्टैंड से माड़ीपुर पावर हाउस चौक स्थित चित्रगुप्तपुरी के लिए भाड़ा तय किया था। पावर हाउस चौक से चित्रगुप्तपुरी के लिए मुड़ते समय वृद्धा का बेटा बोला कि मिठाई लेकर आता हूं। इसके बाद वह रिक्शा से उतर गया। काफी इंतजार किया, लेकिन वह नहीं लौटा। इसके बाद रिक्शा चालक ने आसपास के लोगों को जानकारी दी।

पुलिस ने भेजा वृद्धा आश्रम:

वृद्धा को उसी रिक्शा पर बैठाकर लोग थाने पहुंचे जहां उससे पूछताछ की गई। काजी मोहम्मदपुर के प्रभारी थानेदार विनोद कुमार ने बताया कि पूछताछ में वृद्धा ने सही पते की जानकारी नहीं दी है। तत्काल में उन्हें वृद्धा आश्रम भेजा गया है। परिजनों की तलाश की जा रही है।

Input : Hindustan

Previous articleBREAKING : सलमान खान को जमानत, आज शाम तक रिहा हो सकते हैं
Next articleविश्व स्वास्थ्य दिवस पर हुआ नेत्र शिविर का आयोजन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here