मुजफ्फरपुर में एक महिला से दुष्कर्म के आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर मोतीपुर में भारी बवाल हुआ। उपद्रवियों ने आरोपित पक्ष के लोगों पर हमला कर दिया। एक धार्मिक स्थल में भी तोड़फोड़ कर दी। उपद्रवियों को भगाने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। डीएम व एसएसपी ने मौके पर आकर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। स्थिति नियंत्रण में है। 16 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है। बड़ी संख्या में जवानों की तैनाती कर दी गई है।

 

बताया जाता है कि मोतीपुर थाना क्षेत्र में एक महिला से दुष्कर्म किया गया था। मामले को दो दिनों तक स्थानीय स्तर पर दबाया गया। मामला नहीं सुलझने पर मंगलवार को थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई। आरोपित के दूसरे पक्ष के होने से गांव में तनाव पैदा हो गया था। इस बीच अधिकारियों ने आरोपित की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया था।

आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने से बुधवार को आक्रोश बढ़ गया। एक पक्ष के कुछ लोगों को पीट दिया गया। इसके बाद दोनों पक्षों की गोलबंदी होने लगी। इससे इलाके में तनाव का माहौल कायम हो गया। कुछ उपद्रवियों ने आरोपित के घर पर हमले का भी प्रयास किया। मगर, पुलिस अधिकारियों के पहुंचने पर वे भाग गए। इसके बावजूद इलाके में तनाव बना हुआ है। डीएम मो. सोहैल व एसएसपी हरप्रीत कौर कैंप कर रहे। पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है।

पूरा मामला

मोतीपुर थाना के एक गांव में युवक ने घर में एक महिला का हाथ-पैर व मुंह बांध कर दुष्कर्म किया। विरोध करने पर पीड़िता की पिटाई भी कर दी। पंचायती में निपटाने के लिए मामले को दो दिन तक दबाए रखा गया। पंचों से न्याय नहीं मिलने पर मंगलवार को पीड़िता मोतीपुर थाने पहुंची। उसने गांव के मो. मेराज को आरोपित बनाते हुए एफआईआर दर्ज कराई है। घटना के समय आरोपित नशे में धुत था। पुलिस ने पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

घटना की शिकायत दर्ज होने के बाद गांव के दो पक्षों में तनाव हो गया है। सूचना पर डीएम के आदेश के बाद गांव में डीएसपी पश्चिमी कृष्ण मुरारी प्रसाद, एसडीएम जे. प्रियदर्शनी, सीओ शिवाजी सिंह व मोतीपुर इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष सुभाष प्रसाद पहुंचे। अधिकारियों ने दोनों पक्षों से वार्ता कर शांति बनाए रखने की अपील की। फिलहाल, आरोपित गांव छोड़ कर फरार है। तनाव को देखते हुए एक दंडाधिकारी के साथ मोतीपुर पुलिस कैंप कर रही है। शांति वार्ता के दौरान स्थानीय मुखिया पति बिनोद राय व कल्याणपुर हरौना मुखिया रामेश्वर सिंह भी मौजूद थे।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि पति कोलकाता में मजदूरी करते हैं। गांव में वह आठ वर्षीय पुत्र के साथ रहती है। रविवार की रात खाना खाकर सोने जा रही थी। इस दौरान आरोपित घर में घुस आया। उसने गमछे से पीड़िता का हाथ-पैर व मुंह बांध दिया और दुष्कर्म किया। घर में बच्चे को रोता देख व शोर-शराबा सुनकर ग्रामीण जुटने लगे तो आरोपित भाग निकला। सोमवार की सुबह ग्रामीणों ने पीड़िता को पंचायती कर न्याय देने का आश्वासन देकर थाने में जाने से रोक दिया। मंगलवार की सुबह पंचायती बैठी, लेकिन आरोपित गांव से भाग निकला।

डीएसपी कृष्ण मुरारी प्रसाद ने बताया कि पीड़िता के बयान पर पुलिस एफआईआर दर्ज कर आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। कुछ असामाजिक तत्वों ने गांव में शांति भंग करने का प्रयास किया, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस गांव में कैंप कर रही है।

Input : Dainik Jagran & Live Hindustan

Previous articleआज एक पैसा सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, कर्नाटक चुनाव के बाद से लगातार बढ़ रही कीमतें
Next articleमहिला से गैंगरेप का प्रयास, बचाने आयी बहन का तोड़ा पैर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here