Home Bihar अनियमित हो चली है लालू की धड़कन, डॉक्टर ने बताया खतरनाक

अनियमित हो चली है लालू की धड़कन, डॉक्टर ने बताया खतरनाक

29
0

लालू को एक ओर गुरुवार को आइआरसीटीसी मामले में जमानत मिलने से राहत मिली, लेकिन उनकी अनियमित धड़कन की शिकायत टेंशन को बढ़ाने का काम कर रही है। डॉ. डीके झा ने बताया है कि उनकी हृदय की धड़कन अनियमित हो चली है। उन्होंने बताया कि लालू 25 साल से शुगर और ब्लड प्रेशर के पेशेंट हैं। उनकी किडनी बैठ गई है। 50 फीसद ही काम कर रही है। डॉ. डीके झा के मुताबिक यह काफी खतरनाक और जानलेवा है।

बताते चलें कि हार्ट को लेकर रिम्स के डॉक्टर बराबर एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट से सलाह लेते रहे हैं। इंस्टीट्यूट ने पहले से ही चल रही दवा को देने की बात कही है। इन दिनों लगातार लालू की तबीयत में उतार चढ़ाव देखा जा रहा है।

भर्ती के समय सही थी वॉल्व की स्थिति : डॉ. प्रवीण

वहीं कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर प्रवीण कुमार ने बताया कि इस घटना को मेडिकल भाषा में वेंट्रिकुलर प्रीमैच्योर कांप्लेक्स कहते हैं। इसका पैटर्न ही बताएगा कि यह खतरनाक है या नहीं। हार्ट में यह जानना जरूरी है कि करंट कहां से आ रहा है। डॉ. प्रवीण ने बताया कि जब लालू प्रसाद सुपर स्पेशलिटी विंग में भर्ती थे तो उस समय वाल्व की स्थिति सही थी।

अगली सुनवाई 19 जनवरी को

जानकारी के अनुसार लालू प्रसाद की आईआरसीटीसी मामले में गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये रिम्स के पेइंग वार्ड से नई दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी की गई। उन्हें कोर्ट की ओर से अग्रिम जमानत दी गई। वहीं अगली सुनवाई 19 जनवरी को की जाएगी।

कम हुई है प्रतिरोधक क्षमता

डॉ. डीके झा ने कहा है कि साइंस के पास ऐसी दवा नहीं है कि किडनी फंक्शन को सामान्य किया जा सके। अगस्त से लेकर अभी तक तीन महीने में 110 दिनों में 50 फीसद दिनों में एंटीबायोटिक देनी पड़ी है। इससे लगता है कि उनकी बीमारियों से लडऩे की ताकत कम हो गई है। क्रोनिक डिजीज के मरीजों में यह लक्षण ज्यादा होता है। किडनी फंक्शन नहीं होने पर एंटीबायोटिक का उपयोग लिमिटेड हो जाता है।

डाइट चार्ट का कड़ाई से हो रहा पालन 
डाइट चार्ट का कड़ाई से पालन हो रहा है। मीट, चिकेन और फिश बैन हो गया। खान-पान को लेकर विशेष सावधानी बरती जा रही है।

Input : Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here