अनोखी शादी: दूल्हा-दुल्हन ने बाबा साहब अंबेडकर की मूर्ति के सामने लिए सात फेरे

118

अग्नि को साक्षी मानकर वर-वधू के परिणय सूत्र में बंधने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। लेकिन इन परम्पराओं से हटकर वर-वधू ने अंबेडकर की प्रतिमा को साक्षी मानकर परिणय सूत्र में बंध गए। इस शादी की चर्चा जोरों से चल रही है।

दरअसल गुरुवार की रात खगड़िया जिले के मछरहा निवासी ललन दास के पुत्र अमित दास की शादी भगतपुर निवासी प्रकाश दास की पुत्री कल्याणी कुमारी के साथ होनी तय थी। यह शादी आदर्श रूप में होनी थी। फलस्वरूप वर एवं वधू पक्ष के परिजनों ने आपसी सहमति से शादी की सारी रस्में बलिया प्रखंड परिसर स्थित अंबेडकर पार्क में पूरी करने का फैसला लिया। दोनों पक्षों के परिजनों की उपस्थिति में यह शादी पूरे विधि विधान के साथ सम्पन्न हुई। जयमाला से लेकर अम्बेडकर की प्रतिमा का फेरे लगाकर सात जन्मों तक साथ निभाने की शपथ वर-वधू ने ली। शादी के दौरान लाइट की अच्छी व्यवस्था की गई थी।

वर पक्ष के परिजन खुद शादी रचाने के लिए बलिया पहुंचे थे। वहीं वधू पक्ष के परिजन भी बलिया प्रखंड परिसर पहुंचे थे। इस शादी को देखने के लिए लोगों की भीड़ जुट गई। शादी की सभी रस्में अखिल भारतीय रविदास महासंघ बलिया के नेतृत्व में पूरी की गई।

Input : Live Hindustan