अररिया कांड में खबर का असर : एएसआइ गोविंद सिंह सस्पेंड, जिला कृषि पदाधिकारी पर गाज गिरना तय

397

PATNA : अररिया में चौकीदार से सड़क पर उठक बैठक कराने के मामले में खबर का असर हुआ है। इस मामले में कार्रवाई करते हुए दोषी एएसआइ गोविंद सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है। अररिया से एक वायरल वीडियो सामने आया था जिसमें चौकीदार गणेश ततमा को अररिया के जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार उठक बैठक करा रहे हैं। कान पकड़कर उठक बैठक कर रहा चौकीदार बाद में जिला कृषि पदाधिकारी के सामने घुटनों पर बैठकर माफी मांगते भी नजर आया था। इस मामले में खबर का बड़ा असर हुआ है और अब जिला कृषि पदाधिकारी के साथ मिलकर चौकीदार को बेइज्जत करने वाले एएसइ गोविंद सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है।

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे के निर्देश पर जिले के वरीय अधिकारियों ने इस पूरे मामले में जांच की थी और देर रात ही रिपोर्ट मुख्यालय को भेज दी गई। रिपोर्ट में एएसआइ गोविंद सिंह को दोषी पाया गया था। इस मामले में अररिया के जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार भी दोषी पाए गए हैं लेकिन उनके ऊपर अलग से सरकार एक्शन लेगी। माना जा रहा है कि जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार के ऊपर भी जल्द ही गाज गिर जाएगी। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले को गंभीरता से लिया था और तुरंत दोषियों के खिलाफ एक्शन लेने का निर्देश दिया था।

दरअसल अररिया के जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार की गाड़ी लॉकडाउन के दौरान पूछताछ के लिए रोके जाने के मामले में यह सारा घटनाक्रम हुआ था। मनोज कुमार अपनी गाड़ी रोके जाने के बाद गुस्से से भड़क गए थे और उन्होंने चौकीदार गणेश ततमा को कान पकड़कर उठक बैठक करने को कहा। वहां मौजूद एएसआइ गोविंद सिंह ने भी जिला कृषि पदाधिकारी का साथ दिया था लिहाजा अब इस मामले में एएसआइ पर गाज गिर गई है। कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कल ही फर्स्ट बिहार को यह जानकारी दी थी कि पूर्णिया के एग्रीकल्चर ज्वाइंट डायरेक्टर को मनोज कुमार की भूमिका के बारे में जांच करने का निर्देश दे दिया गया है। मंत्री प्रेम कुमार ने कहा था कि अररिया के जिला कृषि पदाधिकारी को इस मामले में शो कॉज भी किया जा रहा है। अब इंतजार इस बात का है कि जिला कृषि पदाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई का आदेश कब जारी किया जाता है।

Input : First Bihar