Home Bihar एेसे चलता था देह का धंधा: वॉट्सएेप पर पसंद करते थे, होम...

एेसे चलता था देह का धंधा: वॉट्सएेप पर पसंद करते थे, होम डिलीवरी भेजी जाती थीं लड़कियां

16
0

कंकड़बाग थाने की पुलिस ने बुधवार की शाम रामलखन पथ मोहल्ले में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया। इस रैकेट का खुलासा होने पर पता चला कि ग्राहक वॉट्सएेप के जरिए लड़कियों को पसंद करते थे और लड़कियों को ग्राहक के घर पर पहुंचा दिया जाता था। पुलिस ने मौके से संचालक हरेंद्र मांझी और संचालिका रूबी को गिरफ्तार कर लिया। वहीं, देह व्यापार के दलदल में फंसी 23 वर्षीय युवती को मुक्त कराया गया। वह कोलकाता की रहने वाली है।

थानाध्यक्ष रवि भूषण ने बताया कि हरेंद्र और रूबी से पूछताछ की जा रही है। उनके मोबाइल के जरिए लड़कियों की खरीद-बिक्री करने वाले गिरोह का पता लगाया जा रहा है।

थाना पुलिस को जानकारी मिली कि रामलखन पथ स्थित रामजतन प्रसाद के मकान में संदिग्ध लोगों का आना-जाना लगा है। वहां हाल में तीन लड़कियां लाई गई हैं, जो किसी और शहर की लगती हैं।

थानाध्यक्ष ने इसकी जानकारी वरीय अधिकारियों को दी। इसके बाद एएसपी (ऑपरेशन) अनिल कुमार के नेतृत्व में गठित टीम को रेकी के लिए भेजा गया। सत्यापन के बाद पुलिस ने वहां धावा बोल दिया। मौके से दो-तीन ग्राहक भागने में कामयाब रहे।

छपरा और हिलसा के रहने वाले हैं आरोपित

गिरफ्तार हरेंद्र छपरा का रहने वाला है, जबकि रूबी हिलसा की निवासी है। उन्होंने देह व्यापार के लिए एक महीना पहले रामजतन के मकान की पहली मंजिल पर दो कमरे का फ्लैट किराए पर लिया था। दोनों पति-पत्नी बनकर फ्लैट लेते थे और कोलकाता के रेड लाइट एरिया से लड़कियों को एक सप्ताह के लिए यहां बुलाते थे।

वे एक सप्ताह के लिए लड़की को 15 हजार रुपये देते हैं। इसके एवज में वे उनसे दो-तीन गुणा अधिक कीमत वसूल लेते हैं। हरेंद्र और रूबी की चंगुल से मुक्त कराई गई युवती खुद को अनाथ बता रही है। कोलकाता से लड़कियों को पटना लाने वाले एजेंट का पता लगाया जा रहा है।

Input: Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here