बाढ़ ग्रस्त इलाकों का सीएम नीतीश कुमार ने किया हवाई सर्वेक्षण

55

बिहार में लगातार बाढ़ अपना कहर बरपा रही है. वहीं लोगों को खासा दिक्कतों का समाना करना पड़ रहा है. इस बार आई बाढ़ में कई लोगों की जानें भी जा चुकी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ को लेकर आज उच्च स्तरीय बैठक की. मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान अधिकारियों को जरूरी निर्देश भी दिये है. बैठक के बाद सीएम नीतीश कुमार कोशी समेत बाढ़ प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वेक्षण के लिए निकल गये.

सीएम नीतीश कुमार ने मधुबनी, सीतामढ़ी, शिवहर और पूर्वी चंपारण जिले का हवाई सर्वेक्षण किया. मुख्यमंत्री ने बाढ़ प्रभावित सभी क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य तेज करने का निर्देश दिया है. राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टुकड़िया तैनात की गई है. सर्वेक्षण के दौरान जल संसाधन मंत्री संजय झा, मुख्य सचिव दीपक कुमार, जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार और आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत उपस्थित थे.

इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना के एक अणे मार्ग स्थित आवास बाढ़ को लेकर उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की. इस बैठक में जल संसाधन मंत्री संजय झा सहित विभाग के कई आलाधिकारी भी मौजूद थे. जानकारी के मुताबिक इस बैठक में सीएम ने बाढ़ की समीक्षा करने के साथ ही विभागीय मंत्री समेत अधिकारियों को कई जरूरी दिशा निर्देश दिया. नीतीश कुमार बैठक आज बिहार के उन इलाकों का हवाई दौरा करेंगे जो बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं.

बिहार में बाढ़ का कहर

बिहार में लगातार हुई भारी बारिश के बाद कई जगहों पर पानी भर गया है. वहीं पश्चिम चंपारण में भारी वर्षा के बाद गंडक बैराज में जल का स्तर भी काफी बढ़ गया है. पश्चिम चंपारण में कई इलाकों में भारी बारिश के बाद जलभराव हो गया है. उत्तर बिहार में लगातार पांचवें दिन शुक्रवार को भी भारी बारिश हुई.

नदियों में उफान से निचले इलाके में बाढ़ का पानी घुस गया. इस दौरान घर गिरने और पानी भरे गड्ढे में डूबने से सात लोगों की मौत हो गई. पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर तेजी से बढऩे के कारण हाईअलर्ट पर रखा गया है. राजधानी पटना में गंगा नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी देखी जा रही.

Input : Live Cities