बिहार में फैली बीमारी के कारण हुए हज़ारों बच्चों की मौत को देखते हुए केंद्र सरकार ने सराहनीय कदम उठाया है। पिछले साल बिहार के विभिन्न हिस्सों में फैले जेई की घटना को केंद्र सरकार ने गंभीरता से लिया है। केंद्र ने स्वास्थ्य विभाग को डॉक्टर और नर्सों को इस बीमारी से संबंधित प्रशिक्षण के लिए दिल्ली भेजने का निर्देश दिया है।

 

20 दिनों तक दिया जाएगा प्रशिक्षण

स्वास्थ्य विभाग ने तिरहुत प्रमंडल के डॉक्टर और नर्सों की सूची केंद्र सरकार को भेज दी है। इन डाॅक्टराें और नर्स को दिल्ली में 20 दिनों तक पेडियाट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट केयर फॉर एक्यूट इन्सेफलाइटिस सिंड्रोम के बारे में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

शामिल हैं ये डॉक्टर्स

प्रशिक्षण कार्यक्रम नई दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, सफदरजंग मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल और डॉ. राममनोहर अस्पताल में होगा। प्रशिक्षण के लिए जाने वाले डाॅक्टरों में मुख्य रूप से मुज़फ्फरपुर के एसकेएमसीएच के डॉ. विवेक कुमार, डॉ. एचएस चौबे, डॉ. वीर अभिमन्यु, डॉ. अभिषेक तिवारी और डॉ. गोपाल कृष्ण हैं जबकि मोतिहारी सदर हॉस्पिटल के डॉ. पंकज कुमार, डॉ. अमित कुमार, डॉ. तेज नारायण, डॉ. निरंजन कुमार और डॉ. दिलीप कुमार हैं।