खराब मौसम के कारण शनिवार को तीसरे दिन भी दरभंगा एयरपोर्ट पर आने और जाने वाली सभी फ्लाइट रद्द रही। एयरपोर्ट डायरेक्टर विप्लव मंडल ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि विजिबिलिटी काफी कम रहने के कारण सभी फ्लाइट को रद्द करना पड़ा। वहीं, दरभंगा एयरपोर्ट पर तैनात स्पाइसजेट के एक अधिकारी ने बताया कि फ्लाइट रद्द होने की सूचना पूर्व में ही सभी यात्रियों को मोबाइल पर दे जा चुकी थी।

मालूम हो कि मकर संक्रांति के दिन से मौसम का जो तेवर बदला वह शनिवार को भी जारी रहा। सुबह से शाम तक कुहासा छाये रहने के कारण विमान सेवा पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। लोगों की लगातार मांग के बावजूद दरभंगा एयरपोर्ट पर अब तक आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध नहीं करायी गयी हैं। हालांकि रनवे पर लाइट लगाने के लिए टेंडर निकाला गया है, पर इस काम को भी पूरा करने में चार महीने का वक्त लगेगा। ऐसे में ठंड के मौसम में विमान यात्रियों की परेशानी दूर होने की संभावना नहीं है। बता दें कि दरभंगा से फिलहाल दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरू और अहमदाबाद के लिए हवाई सेवा उपलब्ध है।

शहर के अललपट्टी के रहने वाले मनोज कुमार ने बताया कि उनके भाई मुंबई से आने वाले थे। ऐन मौके पर उनके भाई को मोबाइल पर फ्लाइट कैंसिल होने का मैसेज आया। इस वजह से वे दरभंगा नहीं पहुंच सके। यहां उन्हें एक श्राद्धकर्म में शामिल होना था। इसी तरह लक्ष्मीसागर के चंद्रदेव झा ने बताया कि उनके बेटे को बेंगलुरु से आना था, लेकिन फ्लाइट कैंसिल होने के कारण वह नहीं आ सका। उन्होंने कहा कि जब दरभंगा एयरपोर्ट से इतनी बड़ी संख्या में यात्री सफर करते हैं तो ऐसे में सरकार को भी चाहिए कि वह यहां जल्द से जल्द आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराए।