दानापुर : आरएसएस की आनुषंगिक इकाई गंगा समग्र की अाेर से दानापुर के रामजीचक घाट गंगा वैली पार्क में भव्य गंगा आरती का आयोजन किया गया। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि गंगा हमारी संस्कृति और संस्कारों की वाहक है। उसकी निर्मलता, केवल धार्मिक ही नहीं सामाजिक एवं वैज्ञानिक जरूरत भी है। अारएसएस के क्षेत्र प्रचारक रामदत्त चक्रधर ने कहा कि गंगोत्री से चलकर बंगाल की खाड़ी तक लगभग आधे देश में गंगा लोगों के जीवन एवं पर्यावरण को सुरक्षित रखती है। गंगा आरती के लिए काशी के दशाश्वमेध घाट से टीम आई थी। कार्यक्रम की संयोजिका शालिनी वैश्कियार, गंगा समग्र प्रांत कार्यकारिणी सदस्य ने बताया कि हर पूर्णिमा को गंगा मां की आरती की जाएगी। इस मौके पर 1000 दीप जलाए गए।


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उत्तर-पूर्व क्षेत्र बिहार-झारखंड के क्षेत्र प्रचारक रामदत्त चक्रधर ने कहा, गंगा को पवित्र और स्वच्छ रखना सभी देशवासियों का पहला कर्तव्य है। गंगा की पूजा तभी हो सकती है, जब वह स्वच्छ होंगी। ऐसे में लोगों की भूमिका अहम है। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने ‘गंगा समग्र’ के इस प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा, ऐसे प्रयास हर जगह आरंभ करने की जरूरत है। इससे गंगा की स्वच्छता बनी रहे। कार्यक्रम की संयोजक शालिनी वैश्कियार ने कहा, गंगा को स्वच्छ बनाने को लेकर जन जागरुकता अभियान चलाने की जरूरत है। घाट पर हर पूर्णिमा के दिन आरती होगी। आने वाले दिनों में आठ जिलों से होकर बहने वाली गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए गंगा घाटों पर आरती आरंभ होगी।

आरएसएस के क्षेत्र कार्यवाहक व गंगा समग्र के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मोहन सिंह ने कहा, मां गंगा सिर्फ नदी नहीं, बल्कि ये हमारी आस्था के साथ आजीविका से भी जुड़ी हैं। किसानों की भूमि को उर्वरक बनाने में इनकी महत्ता है। अधिक से अधिक पौधरोपण और जैविक कृषि कर पर्यावरण को संतुलित बना सकते हैं। गंगा समग्र के क्षेत्र संयोजक रामाशंकर सिन्हा ने कहा, गंगा आरती के बहाने गंगा को स्वच्छ बनाने को लेकर सभी को दृढ़संकल्प के साथ काम करना होगा। आयोजन को सफल बनाने में रोशन, विनय कुमार मेहता, संगीता, प्रवीण आनंद व मां गंगा युवा संघ के कार्यकर्ता मौजूद थे।