पटना में सरेशाम हुई इंडिगो कंपनी के मैनेजर की हत्या पर भाजपा सांसद विवेक ठाकुर ने सवाल उठाए हैं। कहा कि आपराधिक चरित्र नहीं होने के बावजूद हुई रूपेश की हत्या चिंताजनक है। यह राज्य की नवगठित एनडीए सरकार पर सवाल उठाता है।

हत्या के बाद जारी बयान में बीजेपी सांसद ने कहा कि पटना पुलिस को इस घटना को चुनौती के रूप में लेना चाहिए। तीन से पांच दिनों के अंदर इस आपराधिक वारदात की पड़ताल कर परिणाम देना चाहिए। जरूरत हो तो इसे सीबीआई को देना चाहिए। आखिर क्या कारण हुई, जो हत्या हुई है। कहीं सुनियोजित रणनीति के तहत सरकार की छवि खराब करने की कोशिश तो नहीं की जा रही है। आखिर बिना आपराधिक चरित्र के व्यक्ति को गोली मारा जाना दुखद है।

बता दें कि पटना एयरपोर्ट पर इंडिगो कंपनी के मैनेजर रुपेश कुमार सिंह (40 वर्ष) की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। मंगलवार शाम सवा सात बजे शास्त्रीनगर थाना क्षेत्र के पुनाईचक स्थित कुसुमविला अपार्टमेंट में घुसकर अपराधियों ने छह गोली मारी। राजा बाजार स्थित अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में उन्होंने दम तोड़ दिया। अस्पतालों में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना के वक्त अपार्टमेंट का गार्ड नहीं था। गोली मारने के बाद अपराधी आराम से फरार हो गए।

जानकारी के अनुसार रुपेश शाम करीब सवा सात बजे एयरपोर्ट से लाल रंग की कार से बलदेव मोड़ के पास कुसुमविला अपार्टमेंट पहुंचे। पार्किंग में गाड़ी से उतरने के दौरान ही अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। रुपेश को छह गोली लगी है। बदमाश कितनी संख्या में थे, पता नहीं चल पाया है। रुपेश अवकाश के बाद मंगलवार को ही काम पर लौटे थे। वे छुट्टियां मनाने गोवा गए थे। आने के बाद पटना एयरपोर्ट पर सबसे मिले और बुकिंग की जानकारी के साथ कई जानकारियां ली।