मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी के अध्यक्ष और नगर विकास के प्रधान सचिव आनंद किशोर ने मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी के एरिया बेस्ड डेवलपमेंट (एबीडी) का 800 एकड़ तक विस्तार के साथ स्मार्ट जनसुविधाओं को विकसित करने की कार्ययोजना बनाने का निर्देश दिया है। वर्तमान में मुजफ्फरपुर एबीडी 1210 एकड़ है। इससे अब एबीडी 2010 एकड़ में हो जाएगी। इसका विस्तार यूनिवर्सिटी और लंगट सिंह कॉलेज एरिया में होने की संभावना है, जिस पर कार्ययोजना बनाने के लिए कहा गया है।

मुजफ्फरपुर सिकंदरपुर स्टेडियम को 20 करोड़ की लागत से मल्टीपर्पस स्पोर्ट्स काॅम्प्लेक्स में विकसित करने का निर्णय लिया गया है। वहां क्रिकेट के साथ फुटबॉल, बास्केटबॉल, बैडमिंटन, लॉन टेनिस, जिम्नास्टिक के साथ जिमनैजियम की सुविधाएं होंगी। खुदीराम बोस स्टेडियम का भी जीर्णोद्धार होगा। जुब्बा साहनी पार्क को आकर्षक बनाया जाएगा। स्मार्ट रोड नेटवर्क के तहत बनाई जाने वाली सड़कों को मॉडल के रूप में विकसित करते हुए सड़क के दोनों तरफ फुटपाथ और साईकिल चलाने की व्यवस्था विकसित करने के लिए कहा गया है। शहर के चार प्रमुख चौराहे स्मार्ट रोड नेटवर्क का हिस्सा होंगे।

57 एकड़ के लेक एरिया (साहू पोखर) में साइकिल पाथ-वे के साथ स्कल्पचर बनेगा। वहां पार्क भी बनेगा। शहर में 360 डिग्री व्यू रेस्टोरेंट और कैफेटेरिया का निर्माण होगा। बैठक में प्रधान सचिव ने कहा कि मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी की रैंकिंग में आमूलचूल सुधार लाने के लिए पदाधिकारी लगातार काम करें। चार महीनों के अंदर स्मार्ट सिटी के सभी कार्य 100 फीसदी शुरू हो जाए। इसके लिए युद्धस्तर पर सभी प्रकार की कार्रवाई की जाए। शहर में अच्छी सड़क, खेल के मैदान, पार्क के साथ पार्किंग की सुविधाएं आवश्यक हैं।