आज मेरा और मैथिली ठाकुर जी का न्यूज़ 24 पर एक म्यूजिकल डिबेट होने वाला था “बिहार में का बा” vs “बिहार में ई बा”/”मिथिला में सबकुछ छै” को लेकर.
मैं इस डिबेट को लेकर कल रात से ही बहुत उत्साहित थी, लेकिन आज सुबह-सुबह ही न्यूज़ 24 से कॉल आया. पता चला कि उनको “कुछ जरूरी काम” आ गया है. वो अवेलेबल नहीं हैं. मुझे उनका इंतज़ार रहेगा. वो अच्छा गाती हैं.


मैथिली ठाकुर ने गाया- ‘बिहार में ई बा’ तो नेहा सिंह ने दिया ऐसा जवाब : सोशल मीडिया पर ‘बिहार में का बा?’, ‘बिहार में ई बा’ और ‘का किये हो?’ का जबरदस्त क्रेज देखा जा रहा है. हर कोई अपने हिसाब से बातें कर रहा है. राजनीतिक दल भी गाने की शक्ल में सवाल और जवाब में उलझे हैं. अब, नया विवाद बिहार की दो लोक गायिका के बीच खड़ा हो गया है. एक गायिका ने ‘बिहार में का बा’ का जवाब दिया तो दूसरी गायिका उनके विरोध में उतर गई हैं. लोक कलाकारों को लोक हितों से समझौता नहीं करने की सलाह भी दे डाली है.

मैथिली ठाकुर और ‘बिहार में ई बा’
बिहार की जानी-पहचानी गायिका मैथिली ठाकुर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया है. वीडियो में बदलते मिथिला और बिहार का जिक्र है. दरभंगा एयरपोर्ट और एम्स समेत दूसरी बातों का जिक्र है. मैथिली ठाकुर के गाने में ‘बिहार में ई बा’ की झलक देखी जा सकती है. मैथिली ठाकुर के गाने पर यूजर्स तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं. जबकि, लोक गायिका नेहा सिंह राठौर ने पलटवार किया. नेहा ने मैथिली के वीडियो को शेयर करके लिखा- ‘लोक कलाकारों को लोक हितों से समझौता नहीं करना चाहिए.’

 

विवाद में राजनीतिक दल भी कूद पड़े
बड़ी बात यह है कि बिहार की दो लोक गायिका के बीच छिड़ी जंग का राजनीतिक दल अपने हिसाब से फायदा भी उठा रहे हैं. बीजेपी, जेडीयू मैथिली ठाकुर के गाने को शेयर कर रही है तो विपक्ष ने नेहा सिंह को चुना है. सोशल मीडिया यूजर्स भी विवाद में कूद पड़े हैं. कोई मैथिली ठाकुर को सही बता रहा है तो कोई गलत. किसी ने नेहा सिंह राठौर के कदम को गलत कहा तो किसी ने उनकी तारीफ में कसीदे गढ़ दिए. इन सबके बीच ‘बिहार में का बा’ और ‘बिहार में ई बा’ की लड़ाई गुजरते दिन के साथ बढ़ रही है.

मुंबई से चलकर बिहार पहुंचा ‘का बा’
कुछ दिनों पहले बॉलीवुड में एक भोजपुरी रैप सॉन्ग ‘बंबई में का बा’ रिलीज किया गया था. इसमें बिहार के जाने-माने कलाकार मनोज वाजपेयी भी थे. देखते ही देखते सोशल मीडिया पर गाना वायरल हो गया. इसके बाद नेहा सिंह राठौर ने ‘बिहार में का बा’ गाना गाकर बंबई से चले गाने की बिहार की राजनीति में एंट्री करा दी. चुनाव प्रचार में उतरी बीजेपी ने ‘बिहार में ई बा’ से जवाब दिया. अब, मैथिली ठाकुर के गाने के बाद नया विवाद खड़ा हो गया है. जिसका हर राजनीतिक दल अपने हिसाब से फायदा उठा रहे हैं.