बिहार चुनाव में प्रचार अभियान के बीच राजनीतिक दलों में वाक युद्ध भी अपने चरम पर है। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने रविवार को बक्सर जिले के डुमराव में रैली की। यहां उन्होंने कहा- ‘हमारी सरकार बनी तो नीतीश कुमार सलाखों के पीछे होंगे। मैं आप लोगों से वादा करता हूं कि हमारी सरकार बनते ही सरकारी योजना सात निश्चय में हुए घोटाले की जांच होगी।

घोटाला चाहे अधिकारी ने किया हो या स्वयं सीएम ने, सीधे जेल भेजा जाएगा।’ चिराग ने बिहार में शराबबंदी को भी पूरी तरह फेल बताया। कहा- ‘हर जगह नकली और अवैध शराब बेची जा रही है। यह सरकार की नाकामी है।’ दूसरी ओर जदयू ने चिराग पासवान के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। पार्टी प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा- ‘चिराग के इस बयान से बेशर्मी झलक रही है। चिराग मुख्यमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। लेकिन वो विधायक का भी चुनाव नहीं जीत सकते। उनको अपनी बेलगाम महात्वाकांक्षाओं पर लगाम लगाने की जरूरत है।’

चिराग ने सोशल मीडिया पर कहा- ‘जहां लोजपा का उम्मीदवार नहीं है, वहां भाजपा को वोट दें। प्रदेश में आने वाली सरकार नीतीश मुक्त सरकार होगी।’ वहीं, तेजस्वी और चिराग एक दूसरे के खिलाफ बोलने से बच रहे हैं। इस पर जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि चिराग और तेजस्वी मिले हुए हैं। दोनों सोची-समझी रणनीति के तहत साथ चल रहे हैं।

तेजस्वी के हेलीकॉप्टर में आई खराबी: नालंदा के इस्लामपुर में रविवार को तेजस्वी का हेलीकॉप्टर खराब हो गया। इस कारण वे आगे की निर्धारित सभा नहीं कर पाए। तेजस्वी ने बताया कि 9 जगहों पर सभा थी, लेकिन 6 जगह सभा कर पाए। हेलीकॉप्टर के फिल्टर में डस्ट ज्यादा आ गई थी। वहीं, चिराग पासवान के लिए भी हेलीकॉप्टर मंगवाया गया है। पार्टी के लिए एक हेलीकॉप्टर पहले से आया हुआ था। लेकिन उसका इस्तेमाल प्रदेश अध्यक्ष, सूरजभान सिंह और अन्य नेता कर रहे थे।