नीतीश सरकार ने सोमवार को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए बिहार का बजट (Bihar Budget 2021) पेश किया. इसमें जहां किसानों, स्वास्थ्य और शिक्षा को प्रमुखता के साथ जगह दी गई, वहीं सड़क और खिलाड़ियों के को भी नई सौगात मिली है. वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद (Tar Kishore Prasad) ने बजट पेश करते हुए बिहार के किसी भी जिला तक पहुंचने के लिए 5 घंटे में सफर पूरा करने का दावा किया है.

बजट में सड़कों के निर्माण के लिए प्रमुखता से स्थान मिलने के बाद पटना के आसपास तीन बाईपास बनने का सपना जल्द पूरा होने की उम्मीद है. शहर में लगने वाले जाम की परेशानी से राहत के लिए तीन बड़े बाईपास बनाने का निर्णय पथ निर्माण ने लिया है. इसका प्रस्ताव विभाग ने सरकार के पास भेज दिया है. जानकारी के मुताबिक, पालीगंज में दो बाईपास और बिहटा के पास एक बाईपास बनाने का प्रस्ताव हैं. पालीगंज के अख्तियारपुर से डीहपाली के बीच बाईपास का निर्माण प्रस्तावित है. वहीं दूसरा धरहरा से फतेहपुर के बीच बनना प्रस्तावित है. बाईपास के निर्माण से लाखों की आबादी को राहत मिल पाएगी. तीसरा बाईपास बिहटा के पास प्रस्तावित है जो बिहटा और कोईलवर के बीच लगने वाले जाम से छुटकारा दिलाएगा.

बिहार के खिलाड़ियों के बदलेंगे दिन
बिहार सरकार ने नए बजट में बिहार में एक खेल विश्वविद्यालय बनाने का एलान किया है. खेल विश्वविद्यालय बन जाने से बिहार में हर खेल के खिलाड़ियों को उन्नत तकनीक के साथ अच्छी ट्रेनिंग मिल पाएगी. सीएम नीतीश कुमार ने बजट के बाद कहा कि बिहार के खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय पहचान मिले और बिहार से अच्छे खिलाड़ी निकलकर आएं यह सरकार की कोशिश है. खेल विश्वविद्यालय के निर्माण के बाद खिलाड़ियों को नौकरी में भी बड़ी पहल मिल पाएगी. अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और बीजेपी विधायक श्रेयसी सिंह ने भी सरकार के इस पहल का स्वागत करते हुए कहा कि सरकार के इस पहल से बिहार के खिलाड़ियों के दिन बदल सकते हैं.