Patna: पूरा बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों में रंग चुका है। विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर भाजपा हर मौके को भुनाने में जुटी है। इस बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 70वां जन्मदिन खास उपलक्ष्य में बन रहा है। पीएम मोदी के बर्थ डे पर भाजपा ने भव्‍य तैयारियां की हैं। पार्टी ने इसे सेवा दिवस के रूप में मनाने के लिए बूथ से लेकर प्रदेश स्तर तक का कार्यक्रम तय कर दिया है। 70वें जन्मदिन पर 70 की थीम पर आयोजन होना है।

सेवा दिवस पर मास्क वितरण, प्लाज्मा दान शिविर और रक्तदान शिविर के साथ 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों के बीच चश्मे का वितरण होगा। पौधारोपण आदि कार्यक्रम भी निर्धारित हैं। शक्ति केंद्र, मंडल, विधानसभा और जिला स्तर पर संगठन को सक्रिय रखने के लिए पार्टी नेतृत्व ने सेवा दिवस पर आयोजन का निर्देश दे रखा है। कोरोना काल में इस उपक्रम से जहां जनता को मदद मिलेगी, वहीं भाजपा कार्यकर्ता यह संदेश भी देंगे कि मास्क का इस्तेमाल कर खुद के साथ दूसरों को भी बचाना है।

बड़े नेताओं को उपस्थित रहने के निर्देश

17 से लेकर 25 सितंबर और फिर दो अक्टूबर को पार्टी ने सेवा दिवस की श्रृंखला से जोड़ दिया है। यह एक सप्ताह से अधिक का समय होता है। पार्टी ने इसे सेवा सप्ताह का नाम दिया है। प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अलावा 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय और दो अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती है। उस दौरान निर्धारित कार्यक्रम जारी रहेंगे। अहम यह कि पार्टी ने प्रदेश से लेकर जिला व विधानसभा स्तर पर बड़े नेताओं को कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। बिहार भाजपा चुनाव प्रबंधन समिति के अध्यक्ष व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के अलावा सरकार में शामिल भाजपा कोटे के मंत्री मुख्य रूप से अलग-अलग कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

चिकित्सा प्रकोष्ठ की अहम भूमिका

पार्टी ने चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मनोज कुमार को रक्तदान शिविर और प्लाज्मा दान शिविर के समन्वय की जिम्मेदारी सौंपी है। भाजपा प्रदेश मुख्यालय में केक काटकर प्रधानमंत्री के दीर्घायु होने की कामना की जाएगी। उसके बाद प्रदेश स्तरीय रक्तदान शिविर और दूसरे कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

अनुषांगिक इकाइयों को टास्क

कार्यक्रम को वृहद रूप देने और उसे सफल बनाने के लिए पार्टी ने विभिन्न स्तर पर रणनीति तय की है। फ्रंटल संगठनों (अनुषांगिक इकाइयों) को सर्वाधिक फोकस करने का टास्क दिया गया है। युवा मोर्चा, महिला मोर्चा और किसान मोर्चा जैसे सात प्रमुख फ्रंटल संगठनों के कार्यक्रमों पर शीर्ष नेताओं की नजर बनी रहेगी।

70 के थीम पर काम

किसी मंडल में 70 दिव्यांगों के लिए कृत्रिम अंग दान का कार्यक्रम पार्टी आयोजित करेगी तो कहीं आंख के 70 रोगियों के लिए चश्मे बांटने की योजना है। 70 अस्पतालों में रोगियों के बीच फल वितरण किया जाएगा। कोरोना के 70 मरीजों को प्लाज्मा दिया जाएगा। भाजपा युवा मोर्चा की ओर से रक्तदान के लिए 70 शिविर आयोजित होंगे। बूथ स्तर पर 70 पेड़-पौधे लगाए जाएंगे। साथ ही हर जिले के 70 गांवों में सफाई कार्यक्रम चलाया जाएगा। प्लास्टिक मुक्त भारत के लिए भी शपथ दिलाई जाएगी।