बिहार में नवगठित प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष और मुख्यमंत्री पद की दावेदार पुष्पम प्रिया चौधरी ने बिहार चुनाव को लेकर राष्ट्रपति को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने बिहार में निष्पक्ष और भ/यमुक्त वातावरण में चुनाव कराने के लिए उन्होंने प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है। पत्र में उन्होंने अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के साथ मि/सबिहैव और मा/रपी/ट किए जाने का आरोप लगाया है।

पत्र में उन्होंने लिखा है कि हमलोग युवा, समर्पित और शिक्षित हैं। हमलोगों का कोई आ/पराधिक इतिहास भी नहीं है। हमलोग बिहार का विकास करना चाहते हैं, इसका हमें अधिकार भी है। लेकिन हमारे सामान्य, नितर्दोष उम्मीदवारों को ध/मकाया जाता है उनसे गा/लीगलौ/च की जाती है यहां तक कि उन्हें पी/टा भी जा रहा है। महिला कैंडिडेट पर कमेंट और उनका उपहास उड़ाया जाता है। अगर हमलोग आजाद भारत में रहते हैं तो हमारे उम्मीदवारों को भी साफ सुथरे माहौल में बिना किसी ध/मकी के चुनाव लड़ने का मौका मिलना चाहिए। हमारे कैंडिटेट्स के साथ किस तरह का दु/व्यव्हार किया जा रहा है इसकी कॉपी मैं संलग्न कर रही हूं।

प्लूरल्स अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ने लेटर के माध्यम से राष्ट्रपति से केंद्र सरकार और चुनाव आयोग को प्रेसिडेट रूल के तहत विधानसभा चुनाव कराने का निर्देश देने की मांग की है।

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए प्लूरल्स पार्टी ने सभी 243 सीटों पर उम्मीदवार खड़ा करने की घोषणा की थी। इसके तहत प्लूरल्स पार्टी ने दूसरे चरण के तहत होने वाले 94 विधानसभा क्षेत्रों में अपने प्रत्याशियों की तीसरी लिस्ट जारी की है। प्लूरल्स ने 94 में से 73 सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम जारी किए हैं।

प्लूरल्स पार्टी ने तीसरी लिस्ट में 34 उम्मीदवारों के नाम हैं। अध्यक्ष और पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद की दावेदार पुष्पम प्रिया चौधरी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि प्लुरल्स पोल कमिटी की अनुशंसा पर बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के प्रत्याशियों की तीसरी सूची। सभी चयनित उम्मीदवारों को बधाई और शुभकामनाएँ।

इससे पहले प्लूरल्स ने बीते 13 अक्टूबर को 13 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी की थी। वहीं 11 अक्टूबर को प्लूरल्स ने 26 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। इसमें 13 पुरूष और 13 महिलाओं के नाम थे।

आपको बता दें कि इससे पहले प्लूरल्स पार्टी को पहले चरण के चुनाव की नामांकन प्रक्रिया के दौरान ही निराशा हाथ लगी थी। चुनाव आयोग की ओर से नामांकन पत्रों की जांच के दौरान प्लूरल्स के 61 उम्मीदवारों में से 28 के नामांकन अवैध घोषित किए वहीं उनकी पार्टी के 33 उम्मीदवारों के नामांकन वैध पाए गए। इस बात की जानकारी खुद पार्टी अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ने ट्वीट कर दी थी।