बिहार: महिला को बगैर कपड़ों के घुमाया

74

भोजपुर जिले के बिहिया शहर के रेड लाइट एरिया में सोमवार को एक युवक की रहस्यमय मौत के बाद भीड़ हिंसक बन गई। गुस्साए लोगों ने रेड लाइट एरिया के 3 घरों में आग लगा दी। 3 गुमटियों और एक बाइक को फूंक डाली। एक घर को भी ध्वस्त करने का प्रयास किया। रेड लाइट एरिया की एक 35 वर्षीय महिला को पुलिस के सामने ही घर से खींचकर उसे निर्वस्त्र कर दिया और 500 लोगों की भीड़ के सामने काफी देर तक घुमाया। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने महिला को छुड़ाया और उसे कपड़ा पहनाया। हिंसक भीड़ के गरम तेवर देख पुलिस जान बचाकर बार-बार भागती रही। स्थिति बेकाबू देखकर पुलिस ने 6 राउंड हवाई फायरिंग की। आगजनी और तोड़फोड़ के दौरान उपद्रवियों ने बिहिया स्टेशन से गुजर रही जनसाधारण एक्सप्रेस समेत 3 ट्रेनों पर पथराव किया। 6 यात्रियों को चोट भी आई।

रेलवे लाइन के किनारे मिला था शव

– मृतक का नाम विमलेश कुमार साह था। वह आरा काॅलेज में एडमिशन कराने के बाद बिहिया पहुंचा था। इसी दौरान उसके साथ कुछ संदेहास्पद घटना घटी और उसका शव रेड लाइट एरिया के रेल लाइन के बीच पाया गया।

– सोमवार दोपहर में शव की सूचना मिलने के बाद रेल पुलिस और स्थानीय थाने की पुलिस पहुंची। सीमा विवाद को लेकर पुलिसिया एक्शन में देरी हुई। इससे भीड़ उग्र हो गई और देखते-देखते हिंसा फैल गई।

– घटना के 4 घंटे बाद भी पुलिस का कोई सीनियर अफसर घटनास्थल पर नहीं पहुंचा। शाम लगभग 7 बजे पुलिस लाइन से भारी संख्या में पुलिस बल और फायर बिग्रेड ने उपद्रवियों को खदेड़ा। इसके बाद शव को अपने कब्जे में लिया।

उग्र भीड़ के आगे असहाय थी पुलिस, घबराए राहगीरों ने घरों में ली पनाह

– दोपहर लगभग 3 बजे ही उपद्रवियों ने रेड लाइट एरिया के घरों में घुसकर तोड़फोड़ की, आग लगाने और गुमटी जलाने लगे। पर्याप्त हथियार और पुलिस बल न होने से पुलिस मूकदर्शक बनी रही।

– शाम 5 बजे शाहपुर, गजराजगंज जगदीशपुर थाने की पुलिस पहुंची। इसके बाद हिंसक भीड़ को छितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग शुरू की। जवाब में भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी।

– पथराव शुरु होते ही पुलिसकर्मी जान बचाकर भागे और घरों में घुस गये। इधर, रेड लाइट एरिया आग में धधकता रहा। अधिकांश महिलाएं, बच्चे व पुरुष जान बचाने घर छोड़कर भाग गए।

500 लोग तमाशा देख रहे थे और उपद्रवी मनमानी करते रहे

– बिहिया में सोमवार को जो हुआ, वह पहले कभी नहीं हुआ था। मानवता भी शर्मसार हाे गई। उपद्रवियों ने पुलिस के सामने ही बदनाम एरिया की एक 35 वर्षीय महिला को घर से खींच कर निकाला… उसे निर्वस्त्र कर पीटते हुए लगभग आधा किलोमीटर तक घुमाया। महिला जान बचाने के लिए गुहार लगाती रही, हाथ जोड़ती रही, रोती-चिल्लाती रही लेकिन उपद्रवियों के हिंसक तेवर को देख कोई भी आगे नहीं आया।

– बाद में जगदीशपुर थानाध्यक्ष अरविन्द कुमार और कुछ स्थानीय युवक आगे बढ़े और महिला को बचाया।

– एसपी ने बिहिया के थानेदार कुवर गुप्ता समेत 8 को सस्पेंड कर दिया है। बिहिया में एसपी अवकाश कुमार कैंप कर रहे हैं। बिहिया की कमान फिलहाल धनंजय कुमार को सौंपी गई है।