बिहार में पहली बार आयोजित कौशल विकास प्रतियोगिता 2018 में अपने जिले के काँटी प्रखण्ड के सुभाष कुमार ने अपनी पहचान बनायी। बिहार स्किल डेवलपमेंट मिशन और इंडिया स्किल के तहत आयोजित बिहार स्किल कंटेस्ट में सुभाष को कांस्य पदक मिला है। इन्होंने रेफ्रिजरेशन और एयर-कंडिशनिंग स्किल में राज्य में तीसरा स्थान प्राप्त किया।

प्रतियोगिता श्रम संसाधन विकास विभाग की ओर से वेटनरी काॅलेज में 20-22 April तक हुई। इसका उद्घाटन सीएम नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी ने संयुक्त रूप से किया। समापन कार्यक्रम में राज्यपाल महामहिम सत्यपाल मलिक शामिल हुए। तीन दिवस तक चलने वाले प्रतियोगिता के इस महाकुंभ में उन्होंने अपने हुनर का प्रदर्शन किया। वे अभी फाइनल ईयर मैकेनिकल इंजिनियरिंग की पढ़ाई गवर्नमेंट पाॅलिटेक्निक काॅलेज मुजफ्फरपुर से कर रहे हैं। उन्हें प्रतियोगिता के समापन समारोह में राज्यपाल के द्वारा कांस्य पदक, 5 हजार रुपये का चेक और सर्टिफिकेट से सम्मानित किया गया। इस आयोजन में श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा, विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री श्री जय कुमार सिंह, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा, सीइओ दीपक कुमार सिंह, राज्यपाल के प्रधान सचिव और बिहार स्किल डेवलपमेंट मिशन के अधिकारी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में अलग-अलग विषयों पर पैनल परिचर्चा आयोजन के साथ-साथ 27 ट्रेड के प्रतिभागियों ने
हिस्सा लिया।काॅलेज के प्राचार्य और शिक्षकों ने उनको बधाई दी है।

उल्लेखनीय है कि इंडिया स्किल प्रतियोगिता हर ईवन ईयर पर होता है। इसमें जिला, राज्य, रीजनल, नेशनल और इंटरनेशनल स्तर पर प्रतियोगिता होती है। इंटरनेशनल स्तर पर यह प्रतियोगिता रूस के कजान में आयोजित की जाएगी जिसमें विभिन्न देशों से चुने हुए प्रतिभागी भाग लेंगे।

Advertise, Advertisement, Muzaffarpur, Branding, Digital Media

Previous articleआखिर क्यों भुला दी गई ‘टाइटैनिक’ पर सवार चीनी यात्रियों की कहानी
Next articleछात्र रहें सतर्क, भूलकर भी इन 24 फर्जी यूनिवर्सिटीज में ना ले दाखिला, UGC ने जारी की चेतावनी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here