बीआरएबीयू में लेटलतीफी से आजिज छात्र-छात्रओं में क्रोध व क्षोभ है। न परीक्षाएं समय पर हो रहीं और न सत्र नियमित हो पा रहा है। दैनिक जागरण के विशेष कॉलम ‘छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़’ में अपनी बात रखते हुए भगवानपुर मुजफ्फरपुर की एक छात्र ने कुलपति से पूछा है कि यूनिवर्सिटी समय का महत्व क्यों नहीं समझती? पार्ट टू 2015-18 बैच की छात्र पूजा सिंह आरएलएसवाई कॉलेज से हैं। उसका कहना है कि हम सबको बचपन से ही समय का मूल्य बताया जाता है, लेकिन हैरत की बात है कि यूनिवर्सिटी ही हम सबकासमय बर्बाद कर रही है। तीन साल का कोर्स पांच साल में भी पूरा नहीं हो पा रहा। हर साल कोई न कोई वजह और परेशानी बताकर हमारी परीक्षा नहीं ली जाती। रिजल्ट आता है उसमें भी गड़बड़ी सामने आती है। पता चलता है कि कॉपी जांची ही नहीं गईं और मार्क्‍स मिल गए। सेशनवाले भी फस्र्ट ईयर में हैं और 2018 वाले भी। ऐसे में विद्यार्थियों में हीनभावना आएगी ही। इसके लिए जिम्मेदार कौन है? समय का मोल नहीं समझनेवालों से अनुशासन कैसे सीखा जा सकता है?

 

2016 सेशनवाले भी फस्र्ट ईयर में हैं और 2018 वाले भी

 

पार्ट टू की छात्र का सवाल-वक्त बर्बाद करनेवालों से कैसे सीखे कोई अनुशासन

 

परीक्षा व रिजल्ट में लेटलतीफी से क्रोध और क्षोभ में हैं छात्र छात्रएं

 

किसी को बीए की चिंता तो कोई पीजी में अटका

पीजी थर्ड सेमेस्टर 2014-16 बैच के छात्र पंकज कुमार का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन बेफिक्री में है। उसे लाखों विद्यार्थियों के भविष्य की तनिक भी चिंता नहीं सताती। न समय पर परीक्षाएं हो रही हैं, न रिजल्ट दिए जा रहे। आखिर ये लोग बैठकर करते क्या हैं? साहेबगंज से स्नातक पार्ट टू के धर्मेद्र कुमार का सवाल है कि परीक्षा की डेट निकालकर क्यों स्थगित कर दी गई? परीक्षा में विलंब के लिए विश्वविद्यालय दोषी है। इसकी भरपाई के लिए उसे सभी विद्यार्थियों को बिना परीक्षा पास घोषित करना चाहिए। पिछले रिजल्ट के आधार पर मार्क्‍स दिए जाएं। पार्ट टू के छात्र विशाल कुमार भी परीक्षा के इंतजार में हैं।

 

परीक्षा के सिलसिले में अपनी शिकायत व सुझाव आप हमें वाट्सएप नंबर 97076-42625 पर दे सकते हैं। 

Input : Dainik Jagran

 

यह भी पढ़े : नगर निगम की कार्य करने की ऐसी शैली शायद आपने पुरे विश्व में नही देखा हो!

Previous articleकार्रवाई नहीं कर रही मिठनपुरा पुलिस
Next articleशेमरॉक बीड्स प्ले स्कूल में धूमधाम से मनाया गया मदर्स-डे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here