नवरुणा हत्याकांड में सीबीआइ ने मुजफ्फरपुर के पूर्व मेयर समीर कुमार से गुरुवार को पटना स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में करीब दो घंटे तक पूछताछ की। वे सुबह 11 बजे ही सीबीआइ कार्यालय पहुंच गए थे। समीर कुमार से दो दर्जन से अधिक सवाल पूछे गए। इसके अलावा सामान्य व अनौपचारिक बातचीत भी हुई। पूछताछ के बाद गुरुवार शाम उन्हें घर जाने की इजाजत दे दी गई। उन्हें भविष्य में पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर आने को कहा गया।

Sigma IT Solutions, Muzaffarpur, Advertisement

समीर कुमार से सीबीआइ ने नवरुणा के पिता अतुल्य चक्रवर्ती की जवाहर लाल रोड स्थित जमीन के संबंध में चल रही सौदेबाजी के बारे में कई सवाल पूछे। इस पर उनका जवाब था कि यह तो अतुल्य चक्रवर्ती ही बता सकते हैं कि किन लोगों से उन्होंने अपनी जमीन का सौदा किया था। पूछताछ के दौरान रिमांड पर लिए किसी आरोपित को उनके समक्ष नहीं लाया गया। हालांकि, जांच एजेंसी ने उनसे इन लोगों की घटना में संलिप्तता के संबंध में जानना चाहा। इस पर उनका जवाब था कि वह कैसे कुछ कह सकते हैं। इसका साक्ष्य तो सीबीआइ के पास ही हो सकता है। समीर कुमार से उनके व्यवसाय में पार्टनर व प्रॉपर्टी डीलर भूषण झा से संबंध में जानकारी ली गई। रिमांड पर लिए गए जिला परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष शाह आलम शब्बू व अन्य पांच के बारे में पूछताछ की गई। नवरुणा कांड की उन्हें जानकारी कैसे है? जवाब था कि अखबारों के माध्यम से ही इस घटना को जानते हैं। घटना से पहले और बाद में कभी नवरुणा के पिता अतुल्य चक्रवर्ती से न तो मिले और न ही कोई संपर्क रहा।

यह भी पढ़े : नगर निगम की कार्य करने की ऐसी शैली शायद आपने पुरे विश्व में नही देखा हो!

सीबीआइ ने जांच में मांगा सहयोग : शहर के महत्वपूर्ण व्यक्ति होने के कारण सीबीआइ अधिकारियों ने उनसे जांच में सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि वे जांच में सहयोग देने को हमेशा तैयार हैं। लेकिन, जब उन्हें घटना को अंजाम देने वालों के संबंध में कोई जानकारी नहीं है तो वे भला कैसे किसी के बारे में बता सकते हैं। अगर सीबीआइ चाहे तो वे नाकरे, पॉलीग्राफी व अन्य जांच कराने को तैयार हैं। इधर, सीबीआइ सूत्रों ने बताया कि में शुक्रवार को मुजफ्फरपुर जिले के एक पूर्व विधायक को भी पूछताछ के लिए तलब किया है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है।

Jimmy Sales, Electronic Showroom, Muzaffarpur
TO ADVERTISE YOUR BRAND OR BUISNESS CALL OR WHATSAPP US AT 97076-42625

सीबीआइ ने बुलाया था पटना, दो दर्जन से अधिक सवाल पूछे गए

मुजफ्फरपुर के एक पूर्व विधायक 1 को आज सीबीआइ ने किया तलब

अब तक सात की गिरफ्तारी

पिछले दिनों सीबीआइ ने जमीन के कारोबार से जुड़े आधा दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए पटना तलब किया था। इनमें जिला परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष शाह आलम शब्बू के साथ बिल्डर ब्रजेश सिंह, निजी अस्पताल के प्रोपराइटर विक्रांत शुक्ला उर्फ विक्कू शुक्ला, मार्बल व्यवसायी विमल अग्रवाल, होटल व्यवसायी अभय गुप्ता और पान दुकानदार राकेश कुमार सिंह शामिल हैं। इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। सीबीआइ ने सबसे पहले वार्ड पार्षद राकेश कुमार सिन्हा उर्फ पप्पू को गिरफ्तार किया था। हालांकि, 90 दिनों में चार्जशीट दाखिल नहीं किए जाने के कारण उसे जमानत मिल गई।

Navruna Murder Case, Ex Mayor, Samir Kumar

आरोपितों के रिमांड की अवधि पूरी, पेशी आज

नवरुणा हत्याकांड में शाहआलम शब्बू, विक्रांत शुक्ला उर्फ विक्कू शुक्ला, राकेश कुमार सिंह, विमल अग्रवाल, ब्रजेश सिंह व अभय गुप्ता की तीन दिनों के सीबीआइ रिमांड की अवधि पूरी होने पर शुक्रवार को कोर्ट में पेशी होगी। रिमांड के दौरान उनसे कई सवाल पूछे गए। पहली बार रिमांड में पूछे गए सवालों को क्रॉस कराया गया। इस बीच जदयू नेता भूषण झा व पूर्व मेयर समीर कुमार से पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर आगे की जानकारी ली गई। इन आरोपितों से इनसे संबंध क्या है, ये सवाल भी इनके समक्ष रखा गया।

Navruna, Murder Case, Muzaffarpur, Bihar

आरोपितों से मिले अधिवक्ता : रिमांड अवधि में आरोपितों से मिलने दिए जाने के कोर्ट के आदेश के आलोक में अधिवक्ता प्रियरंजन अनु, सुमित कुमार व हाईकोर्ट के अधिवक्ता शांतनु कुमार अपने-अपने मुवक्किलों से मिले। अधिवक्ता प्रिय रंजन अनु ने बताया कि मुलाकात पटना के सीबीआइ कार्यालय में मुवक्किल अभय गुप्ता व विमल अग्रवाल से हुई।

Input : Dainik Jagran

 

Previous articleशहर से सटे ग्रामीण इलाकों की जमीन होगी और महंगी
Next articleपहली खेप में शाही लीची की 56 पेटियां भेजी गईं दिल्ली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here