बिहार की 26 वर्षीया महिला निशानेबाज श्रेयसी सिंह ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में सातवें दिन महिलाओं की डबल ट्रैप स्पर्धा के फाइनल में हुए रोमांचक मुकाबले में बुधवार को सोने पर निशाना साधा. उन्होंने शूट-ऑफ में ऑस्ट्रेलिया की एम्मा कॉक्स को एक अंक से हराते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. उन्होंने कुल 98 अंक हासिल कर भारत की झोली में 12 स्वर्ण पदक डाला. इससे पहले उन्होंने वर्ष 2014 में ग्लोस्गो में आयोजित 20वें राष्ट्रमंडल खेलों में इसी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने से चूक गयी थीं. वहीं, स्कॉटलैंड की लिंडा पियरसन ने 87 अंकों के साथ कांस्य पदक पर कब्जा जमाया.

श्रेयसी सिंह का मुकाबला काफी रोमांचक रहा. ऑस्ट्रेलिया की एम्मा कॉक्स तीन राउंड से आगे चल रही थीं. लेकिन, चौथे राउंड में वह मात्र 18 अंक ही हासिल कर सकीं. इससे एम्मा कॉक्स और भारत की श्रेयसी दोनों का अंक बराबर हो गया. इसके बाद शूट ऑफ में ऑस्ट्रेलियाई शूटर अपना एक निशाना सही नहीं लगा सकीं. वहीं, श्रेयसी सिंह ने अपने दोनों निशाने सटीक लगाते हुए गोल्ड पर कब्जा जमा लिया. शूटिंग में यह भारत का चौथा स्वर्ण पदक है.

श्रेयसी सिंह बिहार के जमुई की रहनेवाली हैं, वह पूर्व केंद्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह की बेटी हैं. श्रेयसी सिंह इससे पहले भी कई पदक जीतकर देश और राज्य का नाम रोशन कर चुकी हैं. श्रेयसी की मां पुतुल कुमारी बांका की सांसद भी रही थीं. श्रेयसी राष्ट्रमंडल खेल में पदक जीतने वाली बिहार की अकेली खिलाड़ी हैं. सोना जीतने पर राष्ट्रपति ने ट्‌वीट कर उन्हें बधाई दी है. राष्ट्रपति ने ट्‌वीट किया-श्रेयसी सिंह को बधाई. पूरे देश को उनपर गर्व है.

Input : Prabhat Khabar

Previous articleताजमहल पर हक़ किसका, सुप्रीम कोर्ट ने वक़्फ़ बोर्ड को शाहजहां के हस्‍ताक्षर लाने को कहा
Next articleनगर निगम में सभी वार्डो के लिए हुआ विभिन्न विकाश कार्यो का टेंडर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here