बिहार के दरभंगा जिले के एक दुर्गा मंदिर में उस समय अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया, जब महिला ने अपनी आंख निकालकर माता के चरणों में चढ़ाने का प्रयास किया। महिला को आनन-फानन में डीएमसीएच में भर्ती करवाया गया है।

जानकारी के अनुसार, जिले के बहेड़ी थाने के सिरुआ गांव के अरुण कुमार सिंह की 18 वर्षीया बेटी व देवी भक्त सोना कुमारी उर्फ कोमल ने शनिवार की सुबह गांव स्थित दुर्गाजी की बनी प्रतिमा के समक्ष अंधविश्वास के चक्कर में अपनी बायीं आंख अर्पित करने का प्रयास किया। जिसमें उसकी बायीं आंख बुरी तरह से जख्मी हो गई है। उसे इलाज के लिए डीएमसीएच में भर्ती किया गया है।

चिकित्सक के मुताबिक उसकी बायीं आंख की रोशनी जा सकती है। आंख निकालने के प्रयास के संबंध में पूछे जाने पर युवती व उसकी मां चुप्पी साध गई। युवती ने बताया कि दो माह पूर्व मां दुर्गा ने चैती नवरात्र में एक आंख उसे दान देने का स्वप्न दिया था।

बताया जाता है कि कोमल  दुर्गा की परम भक्त है। वह सुबह शाम नियमित रूप से मां दुर्गा की पूजा करती है। उसके कमरे में देवी देवताओं के अनेक फोटो हैं।

Input : Dainik Jagran

 

 

आपका विश्वास ही हमारी पुंजी है, अतः हमारे पोस्ट को लाईक, शेयर और कमेंट करके इस रिश्ते को प्रगाढ़ बनाये।

Previous articleबिहार दारोगा भर्ती परीक्षा नहीं होगी रद, पेपर वायरल पर आया ये जवाब
Next articleपटना में भी सफर होगा सुहाना, दौड़ेंगी 30 इलेक्ट्रिक बसें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here