मुजफ्फरपुर जंक्शन से जीवधारा स्टेशन तक इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने की मंजूरी मिल गई है। यह मंजूरी पूर्वी जोन के रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) प्रमोद कुमार आचार्य ने दी है। उनकी हरी झंडी मिलते ही जीवधारा तक इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने की तैयारी शुरू हो गई है।

इससे मुजफ्फरपुर जंक्शन पर मालगाड़ियों के इंजन बदलने के झंझट से मुक्ति मिलेगी। अब बिना इंजन बदले हुए इलेक्ट्रिक इंजन से चलने वाली मालगाड़ी जीवधारा तक जा सकेगी। अधिकारियों ने बताया कि 180 किमी लंबे मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज रेलखंड पर विद्युतीकरण का कार्य पूरा होते ही इसपर इलेक्ट्रिक इंजन से यात्री ट्रेनें भी चलने लगेंगी। मार्च 2019 तक इस कार्य के पूरा होने की संभावना है। वहीं, पूर्वोत्तर रेलवे की ओर से गोरखपुर से नरकटियागंज रेलखंड के विद्युतीकरण की परियोजना जारी है।

परिचालन की मंजूरी मिलने के बाद मुजफ्फरपुर से जीवधारा के बीच हाईटेंशन तार में 25 हजार वोल्ट की बिजली प्रवाहित की जा चुकी है। विदित हो कि गुरुवार को सीआरएस ने महबल से जीवधारा तक ट्रैक का निरीक्षण किया था। निरीक्षण में सबकुछ ठीक रहने पर सीआरएस ने ट्रेनों के परिचालन की मंजूरी दे दी है।

बयान :::

सीआरएस ने मुजफ्फरपुर से जीवधारा तक इलेक्ट्रिक ट्रेनों के परिचालन को मंजूरी दे दी है। फिलहाल, इस रूट पर इलेक्ट्रिक इंजन वाली मालगाड़ी चलाई जाएगी। नरकटियागंज तक विद्युतीकरण का कार्य पूरा होते ही यात्री ट्रेनें भी चलने लगेंगी।

-आरके जैन, डीआरएम, समस्तीपुर रेल मंडल

Input : Hindustan

Previous articleबीएड का नहीं सुलझा विवाद, फॉर्म भरने की तारीख बढ़ी
Next articleअब बिहार में पुलों पर नहीं लगेगा टॉल टैक्स, आज से लागू हो गया नया सिस्टम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here