कर्नाटक के उडुपी में जारी हिजाब विवाद पर विहिप (विश्व हिंदू परिषद्) ने अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी है। विश्व हिंदू परिषद् के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन ने इसे हिजाब जीहाद का नाम दिया है। यह मामला उडुपी के एक कॉलेज का है, जहां की कुछ लड़कियों ने स्कूल यूनीफॉर्म की बजाय इस्लामिक हिजाब पहनकर स्कूल आने को लेकर धरना पर बैठी थी। इससे एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया है।उसके बाद अब इधर, बिहार में भी इस घटना को लेकर राजनीति गरम हो गई है।

पूर्व सीएम मांझी ने किया ट्वीट

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने अब इस विवाद में लड़कियों का साथ देते हुए ट्वीट करके कहा की – ‘अगर हिजाब थोपोगे तो हिजाब के ख़िलाफ़ हूँ, लेकिन अगर हिजाब नोचोगे तो हिजाब के साथ हूँ।’हिजाब पहनने या ना पहनने का फैसले को उन लड़कियों पर छोड़े जाने की वकालत की है। वहीं बीते दिन राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी इस घटना को देश में गृहयुद्ध जैसे हालात बनने जैसी स्थिति बताया था।

हिजाब की आड़ लेकर जिहादी अराजकता फैलाने चाहते हैं अराजकता

कर्नाटक के उडुपी में हिजाब विवाद को लेकर विश्व हिंदू परिषद् ने नाराजगी जताई है। विहिप (विश्व हिंदू परिषद्) के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ सुरेन्द्र जैन ने इसे हिजाब जिहाद का नाम दिया है। विश्व हिंदू परिषद् ने इसे पीएफआई जैसे कट्टर इस्लामिक संगठनों के इशारो पर अराजकता फैलाने के लिए किया गया षड्यंत्र बताया है। vhp के अनुसार ये कर्नाटक में शाहीन बाग दोहराने की कोशिश और साजिश है।

यूनिफॉर्म में आने का था स्पष्ट निर्देश

विश्व हिंदू परिषद् की तरफ से इस मामले में जो जानकारी सामने आईं है, उसके अनुसार विद्यालय में प्रवेश के समय ही जिस फॉर्म पर हस्ताक्षर किया गया था उसमें स्टूडेंट के लिए स्कूल यूनिफॉर्म हीं पहनकर आने का निर्देश था। विहिप के सुरेंद्र जैन ने कहा कि इस षड्यंत्र में इन लड़कियों को कठपुतली की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। साथ इस पूरे मामले में उन्होंने कर्नाटक कांग्रेस की भूमिका है।

Previous articleगया के निजी स्कूल निदेशक ने मैरिज ब्यूरो के जरिए महिला से दोस्ती कर, दिल्ली जाकर किया दुष्कर्म, पुलिस ने किया गिरफ्तार
Next articleमामी से दिल लगा बैठे भांजे ने मामा को रास्ते से हटाने के लिए गला रेत मर डाला